Unnao Rape Case: उन्नाव में पीड़िता के साथ किए गए बर्बरता के खिलाफ दिल्ली सफदरगंज अस्पताल के बाहर प्रदर्शन कर रही एक महिला ने हैरान कर देने वाला विरोध प्रदर्शन किया। प्रदर्शन के दौरान महिला ने अपनी छह वर्षीय बेटी के ऊपर पेट्रोल डाल दिया। सूत्रों के मुताबिक बलात्कार जैसी घटनाओं से तंग आकर प्रदर्शन के दौरान महिला अपनी बेटी को जला देना चाहती थी। लेकिन मौके पर पहुंची पुलिस ने बच्ची को अपनी कस्टडी में लेकर तुरंत इलाज के लिए अस्पताल पहुंचा दिया। वहीं महिला को गिरफ्तार कर लिया गया है।

शुक्रवार रात बलात्कार पीड़िता की हो चुकी है मौत

उल्लेखनीय है उन्नाव रेप पीड़िता की चार आरोपियों द्वारा जला देने के कारण शुक्रवार देर रात सफदरजंग अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई। पीड़िता कोर्ट में पेशी के लिए जा रही थी इसी दौरान उसके ऊपर जमानत पर जेल से छूटे बलात्कार के आरोपियों ने पेट्रोल डालकर आग लगा दिया। इसके बाद पीड़िता को इलाज के लिए दिल्ली लेकर आया गया। डॉक्टर के मुताबिक अस्पताल पहुंचने से पहले पीड़िता 90% जल चुकी थी। बावजूद इसके वह अपने भाई से इस बात की पुष्टि करती रही कि वह बच तो जाएगी ना? साथ हीं उसने अपने भाई से यह भी कहा कि वह पांचों आरोपियों को फांसी के फंदे पर लटकते हुए देखना चाहती है।

आरोपी हिरासत में, सियासत जारी

आपको बता दें कि देर रात पीड़िता को आग के हवाले करने वाले आरोपियों को भी हिरासत में ले लिया गया। दूसरी तरफ अब इस मामले में सियासत भी होने लगी है। उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने अपने समर्थकों के साथ उत्तर प्रदेश विधानसभा के बाहर विरोध प्रदर्शन किया है। उन्होंने योगी सरकार पर कड़ा निशाना साधते हुए और पीड़िता को जल्द इंसाफ दिलाने की मांग की। वहीं कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने उत्तर प्रदेश भाजपा कार्यालय के बाहर विरोध प्रदर्शन किया। बसपा सुप्रीमो मायावती भी इस रेस में पीछे नहीं रही, उन्होंने उत्तर प्रदेश के राज्यपाल आनंदीबेन पटेल से मुलाकात कर जल्द इंसाफ की मांग की है। मीडिया से बातचीत के दौरान मायावती ने कहा कि एक महिला होने के नाते राज्यपाल का दायित्व है कि महिला के दर्द को समझा जाए। वहीं उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक वक्तव्य जारी करते हुए कहा है कि कानून के तहत जल्द ही आरोपियों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

Facebook Comments