Lockdown: यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के अनुसार यदि 15 अप्रैल से लॉकडाउन खत्म किया जाता है, तो हालात बेहद चुनौतीपूर्ण हो जाएंगे। क्योंकि लॉकडाउन के अंतर्गत लोग अपने परिवार से दूर जहां फंसे हुए हैं, वहां से निकलकर वापस आने का प्रयास करेंगे। ऐसे में हालात बेहद कठिन हो जाएंगे। और सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन करना भी मुश्किल हो जाएगा। इसके लिए राज्य सरकार कार्य योजना तैयार कर रहा है। स्कूल-कॉलेज, अलग-अलग तरह के बाजार, मॉल कब और कैसे खुलेंगे, इसके लिए कार्ययोजना तैयार करने का निर्देश दिया गया है। 

Lockdown लखनऊ में की बैठक

लखनऊ में शुक्रवार को हुई, टीम-11 की बैठक में सीएम योगी जी द्वारा कहा गया कि, हर जरूरतमंद को भोजन पहुंचाना सुनिश्चित किया जाए। इसके लिए स्वयंसेवी संस्थाओं की मदद ली जा सकती है। इसके साथ-साथ जिलों के डीएम से बात कर आंगनवाड़ी का पौष्टिक आहार घर-घर तक पहुंचाने का प्रबंध किया जाए। मुख्यमंत्री ने बारी-बारी सभी के कार्यों का फीडबैक लिया एवं आगे के लिए उन्हें निर्देश दिए।

योगी जी ने कहा कि हमें दो स्तर पर तैयारी करनी चाहिए। अभी के हालातों को देखते हुए और भविष्य का सामना करने के लिए। हर जिले में कम्युनिटी किचन चलाई जाए। इसमें स्वयंसेवी के साथ-साथ जो भी व्यक्ति मदद करना चाहे वह मदद दे सकता है। एवं हर कोई व्यक्ति भोजन बाटने बाहर ना जाए। इसके लिए एक  कलेक्शन सेंटर का निर्माण किया जाए। ताकि भोजन वहां एकत्र करने के बाद बांटा जा सके। 

कोरोना के लिए तैयार होगा 1000 करोड़ का केयर फंड (Lockdown)

योगी आदित्यनाथ द्वारा निर्देश दिया गया है कि सरकार 1000 करोड़ का केयर फंड तैयार करेगी। इस फंड के जरिए टेस्टिंग लैब की सुविधा बढ़ाने के साथ-साथ मसलन वेंटिलेटर, मास्क, सेनेटाइजर, पीपीई (पर्सनल प्रोटेक्शन इक्यूपमेंट) आदि की पूर्ण रूप से व्यवस्था की जाएगी। इस फंड में सरकार को अपनी ओर से मदद देगी ही, इसके अतिरिक्त औद्योगिक घरानों से भी मदद की गुहार लगाई जाएगी। 

यह भी पढ़े पीएम मोदी ने जारी किया वीडियो संदेश, 5 अप्रैल को रात 9 बजे मांगे जनता के 9 मिनट

तैयार होंगे खादी के मास्क

मुख्यमंत्री का कहना है कि जरूरी समान का उत्पाद उनके प्रदेशों में ही किया जाए। ताकि वह सामान लोगों को सस्ते में उपलब्ध करवाया जा सके। ऐसे में खादी के मास्क तैयार किए जाएं ताकि लोग उन्हें एक बार से ज्यादा इस्तेमाल में ले सकें। ऐसा करने से खादी का प्रचार भी होगा। इसी के साथ-साथ महिलाओं को भी रोजगार मिलेगा। और मास्क का सस्ता मिलने पर लोगों को आदत इसकी आदत भी पड़ जाएगी।

असहयोगियों के खिलाफ सख्ती करने का आदेश

सीएम योगी के अनुसार जो भी निर्देशानुसार लॉकडाउन का पालन नहीं करेगा। उसके लिए सख्ती से एक्शन लिया जाएगा। इंदौर जैसी घटना को यूपी में बिल्कुल बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। जो भी सरकार के निर्देशों का उल्लंघन करेगा, उसे कड़ी निगरानी में रखा जाएगा। अगर कोई भी क्वॉरेंटाइन के दौरान अस्पताल से भाग जाएगा, तो प्रशासन उसकी जिम्मेदारी नहीं लेगा। वही सीएम के अनुसार जो भी इस नियम का बेहतर तरीके से पालन कर रहा है। उनकी सूची भी बनाई जाएगी। और लॉकडाउन के खत्म होने के बाद उन्हें सम्मानित भी किया जाएगा।

Facebook Comments