Yogi Government: उत्तर प्रदेश में कोविड 19 के बढ़ते मामलों को देखते हुए और गरीबों की हालत खराब होते देख, राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कुछ अहम फैसले लिए हैं। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि, उत्तरप्रदेश में कोरोना से कुल 13 लोगों की मौत हो चुकी है और कई लोग इस वायरस से संक्रमित हैं। राज्य के कई जिलों में कोरोना हॉट स्पॉट भी है जिन्हें सुरक्षा के मद्देनजर से सील कर दिया गया है। मिडिल क्लास लोगों को छोड़ दें तो इस संकट की घड़ी में सबसे ज्यादा नुकसान उन्हें  हो रहा है जिनका जीवन रोजाना भत्ता से चलता है। इस वजह से योगी सरकार ने कुछ अहम् फैसला लिया है, इसके अनुसार अब राज्य में बिना राशन कार्ड वालों को भी राशन मिल सकेगा। 

Yogi Government – कोरोना से लड़ाई में लिए ये अहम फैसले

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि, वर्तमान में उत्तर प्रदेश में बहुत से ऐसे शेल्टर होम बनवाएं गए हैं जिसमें गरीबों और मजदूरों के रहने की पूरी व्यवस्था की गई है। इस शेल्टर होम में विशेष रूप से उनके रहने की व्यवस्था की गई है जो लोग अपने घर नहीं जा सकें हैं या जिनके पास रहने के लिए घर नहीं है। शुक्रवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक बैठक में टीम इलेवन के सदस्यों को ख़ास निर्देश दिए हैं कि, राज्य में उन लोगों के लिए भी राशन की व्यवस्था की जाए जिनके पास आधार कार्ड और राशन कार्ड नहीं हैं। मुख्यमंत्री ने साफतौर पर निर्देश दिए हैं कि, कोई भी ऐसा शख्स न मिलें जिसके पास खाने की कमी हो। चाहे राह चलता कोई व्यक्ति हो या घरों में रहने वाला परिवार, राशन सभी को मुहैया करवाई जाए। 

यह भी पढ़े एक्शन प्लान बनाने में जुटी राज्य सरकार, 20 अप्रैल से कुछ सेवाओं में सशर्त छूट

क्या है उत्तर प्रदेश में टीम इलेवन

उत्तर प्रदेश की सरकार ने कोरोना वायरस से लड़ने के लिए राज्य में अलग-अलग 11 टीमों का निर्माण किया है। इन टीमों को विशेष रूप से ये ज़िम्मेदारी सौंपी गई है कि, किसी को भी राज्य में कोई मुसीबत न हो और सबके पास खाने पीने का सामान अवश्य पहुँचता रहे। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि, इन टीमों को इस दौरान राज्य में शान्ति बनाए रखने का जिम्मा भी सौंपा गया है। बहरहाल मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा उठाया गया ये कदम बेहद सराहनीय है। मुसीबत की इस घड़ी में जनता की सेवा में 24 घंटे खड़े रहना अपने आप में बहुत बड़ी बात है। 




Facebook Comments