Covid19 Servival Come With 181 Pages Price Tag: कोरोनावायरस के मरीजों की तादाद में लगातार बढ़ोतरी होती जा रही है। कोरोना मरीजों का जिन अस्पतालों में इलाज चल रहा है, उनमें से कई अस्पताल ऐसे भी हैं, जो मरीजों को भारी-भरकम बिल थमा रहे हैं। अमेरिका के सिएटल शहर में भी एक मरीज को अस्पताल में 11 लाख डॉलर का बिल थमाया है, जो कि 8 करोड़ 14 लाख रुपए के बराबर है।

माइकल फ्लोर नामक एक व्यक्ति को यहां कोरोनावायरस का संक्रमण था। इस व्यक्ति की उम्र 70 साल की है। जब यह व्यक्ति कोरोनावायरस की चपेट में आ गया तो उसे इलाज के लिए एक के अस्पताल में भर्ती कराया गया। इस व्यक्ति का यहां 62 दिनों तक इलाज चला। इलाज के बाद यह व्यक्ति पूरी तरीके से स्वस्थ हो गया और जब इसे डिस्चार्ज करने का समय आया तो बिल को देखकर तो उसके होश ही उड़ गए।

जिंदा बचने का अफसोस

Corona Patient
Image Source – Newindianexpress.com

माइकल के हाथ में जब अस्पताल ने बिल थमाया तो यह बिल 8 करोड़ 14 लाख रुपए का था। इसे देखकर माइकल के पैरों तले जमीन ही खिसक गई। माइकल बड़े हैरान परेशान होकर इस बिल को देखने लगे। उन्होंने बार-बार बिल को देखकर यह सुनिश्चित किया कि यह बिल उन्हीं के नाम का है। इसके बाद उन्होंने मजाकिया लहजे में कहा कि जिंदा बचने का मुझे अब हमेशा अफसोस रहेगा।

70 साल के माइकल ने कहा कि बिल को देखने के बाद तो लगभग दूसरी बार मेरा हार्टफेल होने जा रहा था। इतने बड़े बिल को देख कर मुझे यकीन ही नहीं हो रहा था। अपने आप से मैं सवाल कर रहा था कि मैं ही क्यों? आखिर मेरे साथ ही ऐसा क्यों हो रहा है? माइकल के मुताबिक इस यकीन न कर पाने वाले खर्चे को देखकर मुझे निश्चित रूप से ऐसा बोध हो रहा है जैसे कि मैंने कोई अपराध कर दिया हो।

181 पेज का बिल

कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद माइकल को इलाज के लिए गत 4 मार्च को स्वीडिश मेडिकल सेंटर में भर्ती कराया गया था। यहां इलाज के बाद माइकल स्वस्थ हो गए, लेकिन डिस्चार्ज करने के वक्त जो बिल उनके हाथ में थमाया गया, वह 181 पेज का था। Covid19 Servival Come With 181 Pages Price Tag इसमें उनके इलाज के खर्चे का पूरा ब्यौरा दिया हुआ था।

इतने लंबे-चौड़े बिल में जो ब्यौरा दिया गया था, उसमें बताया गया कि आईसीयू में हर दिन के बेड का खर्चा 9 हजार 736 डॉलर आया आया, जिसका बिल कुल मिलाकर रुपए में 7 लाख रुपये के बराबर हुआ। उसी तरीके से माइकल को इलाज के दौरान वेंटिलेटर की जरूरत भी पड़ी थी। माइकल को इलाज के वक्त जो 29 दिनों तक वेंटिलेटर पर रखा गया, इसका खर्चा इस बिल में अस्पताल ने 82 हजार 215 डॉलर बताया, जो कि 62 लाख रुपये के बराबर है।

मेडिकल बिल के मुताबिक माइकल का जो दिल, उनकी किडनी और फीफड़े संक्रमण से प्रभावित हो गए थे, उनके इलाज के लिए 2 दिन का खर्चा 1 लाख डॉलर का आया, जो कि लगभग 76 लाख 95 हजार रुपये के बराबर है। Covid19 Servival Come With 181 Pages Price Tag इतना भारी-भरकम बिल देखने के बाद माइकल फ्लोर की तो आंखें खुलीं-की-खुलीं ही रह गईं।

मिरेकल चाइल्ड

Swedish Medical Center bill of 181 pages
Image Source – Seattletimes.com

अस्पताल में डॉक्टर माइकल को मिरेकल चाइल्ड यानी कि चमत्कारिक बच्चा कह रहे थे। ऐसा इसलिए कि कई अंगों के काम करना बंद करने के बावजूद माइकल आखिरकार ठीक हो गए। एक वक्त तो ऐसा भी आया था कि माइकल की पत्नी और बच्चों को डॉक्टरों ने उनसे अंतिम बार मिलने के लिए भी बुला लिया था।

यह भी पढ़े

माइकल को इतना भारी भरकम 8 करोड़ का बिल हाथ में जरूर थमाया गया है, लेकिन वे अमेरिका की राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा कार्यक्रम योजना के लाभार्थी हैं। ऐसे में इस बिल के अधिकांश हिस्से का भुगतान करने से वे बच जाएंगे।

Facebook Comments