Haldi Doodh ke Nuksan:हल्दी के दूध को शुरू से ही काफी स्वस्थ बताया गया है। जब कभी भी किसी को भी दर्द होने पर, सर्दी-खांसी होने पर हमारे बड़ो ने सबसे पहले हल्दी वाला दूध पीने की हमेशा सलाह दी हैं, और जिसे लोग बिना किसी परेशानी के पी लेते है। हल्दी के दूध के फायदे तो आप लोग शुरू से ही सुनते आये होंगे परन्तु कभी आपने इसके नुकसान के बारे में कभी सोचा है? वैसे तो सब लोगो को पता है की हल्दी एक बहुत ही अच्छा एंटीसेप्टिक है मगर हम आपको हल्दी के दूध के नुकसान में बता दे।

एक तरफ हल्दी के अनेक फायदे है तो दुरी तरफ कुछ हल्दी के नुक्सान भी है। हालाँकि हल्दी के नुकसान का कारण तभी होता है जब इसे अधिक मात्रा में लिया जाने लगे।

हल्दी दूध के नुक्सान (Haldi Doodh ke Nuksan)

haldi doodh ke nuksan
myupchar

1. गॉलब्लैडर/पित्ताशय में परेशानी

अगर आपकी पित्त की थैली में स्टोन है तो हल्दी वाला दूध आपके लिए हानिकारक हो सकता है। विज्ञान के अनुसार ज़्यादा हल्दी पित्ताशय के लिए ठीक नहीं होती है।

2. ब्लीडिंग की दिक्कत

अगर आपको प्रॉब्लम हो रही है तो हल्दी वाला दूध पीने की गलती कभी ना करे। हल्दी वाला दूध पीने से ब्लड क्लॉटिंग की प्रक्रिया कम हो जाती है जिससे ब्लीडिंग की समस्या और बढ़ने भी बढ़ सकती है।

3. मधुमेह के दौरान

अगर आपको मधुमेह है तो अच्छा ये ही रहेगा की आप हल्दी से बच कर ही रहे, क्युकी हल्दी में करक्यूमिन नाम का रासायनिक पदार्थ पाया जाता है जो की ब्लड शुगर को द्रवित करता है।

4. नपुंसकता का कारण

टेस्टोस्टेरॉन के स्तर के काम होने का कारण हल्दी भी होती है। अगर किसी को कभी ये दिक्कत महसूस होये तो उनको हल्दी के दूध का सेवन बंद कर देना चाहिए।

5. आयरन का अवशोषण

हल्दी के दूध का नुकसान, एक ये भी है कि इसके अधिक मात्रा में सेवन करने से आपके शरीर में आयरन का अवशोषण बढ़ जाता है। क्योंकि हल्दी खून का थक्का जमने में दिक्कत करता है।

Facebook Comments