(Home Remedies for Joint Pain) जोड़ो के दर्द की समस्या आज हर दूसरे व्यक्ति में देखने को मिलती है। हालांकि पहले यह रोग सिर्फ बूढ़े व्यक्तियों में ही आमतौर पर देखने को मिलता था लेकिन आज युवाओं में भी यह परेशानी आम हो चुकी है। अगर आप भी इस परेशानी से जूझ रहे हैं तो अपनी डाइट में ये कुछ चीजें शामिल करके आप इस रोग से राहत पा सकते हैं।

आजमाएं ये 5 घरेलू टिप्स (Home Remedies for Joint Pain)

ब्रोकली

Samachar Jagat

पोषक तत्वों से भरपूर ब्रोकली जोड़ों के दर्द में आराम दिलाने में काफी मददगार है। इसमें कैल्शियम, कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, आयरन, विटामिन ए और सी, क्रोमियम पााया जाता है जो हमारे शरीर को हेल्दी रखने का काम करता है। एक रिसर्च में सामने आया है कि रोजाना ब्रोकली का सेवन करने से धीरे-धीरे बढ़ रहे गठिया के रोग को काबू किया जा सकता है।

लहसुन

Home Remedies for Joint Pain
Amar Ujala

इस दर्द से राहत पाने के लिए अपनी डाइट में हर दिन लहसुन को शामिल करें। इसका सेवन करने से अर्थराइटिस के रोगियों को बहुत फायदा होता है। इसमे मौजूद एंटी बैक्टीरियल, एंटीफंगल, एंटी बायोटिक और एंटी इंफ्लेमेट्री गुण जोड़ों के दर्द से निजात दिलाने में मदद करते हैं। एक बात का खास ख्याल रखें, लहसुन की तासीर गर्म होती है इसलिए गर्मियों के मौसम में रोजाना 1 या 2 कली से ज्यादा इसका सेवन करने से बचें।

हल्दी

Home Remedies for Joint Pain
www.wellthy.care

हल्दी में करक्यूमिन नामक तत्व होता है, जो बीमारी फैलने वाले बैक्टीरिया को खत्म करने का काम करता है इसलिए गठिया के दर्द के मरीजों को इसका सेवन जरूर करना चाहिए। ऐसा करने से गठिया के दर्द में काफी राहत मिलती है।

बथुआ

Home Remedies for Joint Pain
patrika.com

(अर्थराइटिस) गठिया के दर्द से राहत पाने के लिए बथुआ के पत्तों का रस बहुत कारगार उपाय है। अपनी डाइट में बथुआ को शामिल करें और इसके साथ ही रोजाना इसके पत्तों का रस पीएं। ध्यान रखें इस रस के स्वाद को अच्छा करने के लिए इसमें कुछ न मिलाएं। तीन महीने तक इस रस का सेवन करने के बाद आपको इसका असर साफ देखने को मिलेगा।

ओमेगा-3 एसिड

Home Remedies for Joint Pain
marinehealthfoods.com

अर्थराइटिस से छुटकारा पाने के लिए ओमेगा-3 फैटी एसिड का सेवन करें। इसके लिए आपको अपनी डाइट में एल्गी ऑयल, फिश ऑयल, सैमन मछली को शामिल करना चाहिए।

बरतें ये सावधानियां – टहलना बंद ना करें, व्यायाम करना न छोड़ें, वसायुक्त भोजन का इस्तेमाल न करें , फास्ट फूड और डिब्बाबंद खाना खाने से बचें।

Facebook Comments