Health Benefits of Drinking Water from Clay Pot: गर्मी का प्रकोप तेजी से बढ़ता ही जा रहा है। अपने गले और शरीर को ठंडक देने के लिए बहुत से लोग फ्रिज का पानी इस वक्त पी रहे हैं। हालांकि, मिट्टी के घड़े के पानी को यदि आप इसके बदले पीएं तो फ्रिज के पानी की तुलना में यह कहीं ज्यादा आपके लिए लाभकारी होता है। वैज्ञानिकों का भी यह मानना है कि मिट्टी के घड़े में जमा किए गए पानी को यदि आप गर्मी के दिनों में पीते हैं तो आपकी सेहत को इससे बड़े लाभ मिलते हैं। यहां हम आपको इसके ऐसे ही फायदों के बारे में बता रहे हैं।

बढ़ाता है मेटाबॉलिज्म (Mitti ke Ghade ka Pani se Badhta hai Metabolism)

Mitti ke Ghade ka Pani se Badhta Metabolism
Image Source: Navbharat Times

हमारे शरीर को स्वस्थ बनाए रखने में मेटाबॉलिज्म की प्रक्रिया का बहुत बड़ा योगदान होता है। विशेष प्रकार का केमिकल रिएक्शन करके मेटाबॉलिज्म हमारे शरीर को सेहतमंद बनाए रखने में उल्लेखनीय भूमिका का निर्वाह करता है। मिट्टी के घड़े में विशेष प्रकार के गुण पाए जाते हैं, जिसे पानी अवशोषित कर लेता है। मिट्टी के घड़े का पानी (Mitti ke Ghade ka Pani) जब आप पीते हैं तो इससे आपके शरीर में मेटाबॉलिज्म की प्रक्रिया दुरुस्त बनी रहती है। ऐसे में आपका शरीर बिल्कुल अच्छी तरह से काम करता है।

पेट की समस्याओं को करता है दूर (Mitti ke Ghade ka Pani Dur krta hai Pet ki Samasya)

यदि आप मिट्टी के घड़े का पानी (Mitti ke Ghade ka Pani) पी रहे हैं तो आपकी पेट के लिए यह बहुत ही लाभकारी होता है। कब्ज की शिकायत इससे आपकी दूर हो जाती है। यदि आप एसिडिटी के शिकार हैं तो इसमें भी आपको मिट्टी के घड़े का पानी पीने से राहत मिलती है। पेट में ऐंठन हो रही है तब भी मिट्टी के घड़े का पानी पीने से सकारात्मक असर दिखने लगता है। कई वैज्ञानिक अध्ययनों में यह दावा किया जा चुका है कि मिट्टी के घड़े का पानी (Mitti ke Ghade ka Pani) यदि आप पीते हैं या फिर मिट्टी से बने हुए बर्तन में रखे गए पानी का सेवन आप करते हैं तो पेट से जुड़ी कई तरह की समस्याएं आपकी दूर हो जाती हैं।

करता है डिटॉक्सीकरण

drink water
Image Source: Pelvicsanity.com

हमारे शरीर में कई तरह की गंदगी मौजूद होती है, जो बीमारियों का घर होती है। इस गंदगी को बाहर निकालना जरूरी होता है। हमारे शरीर से जो गंदगी बाहर निकलती है, उस प्रक्रिया को डिटॉक्सीकरण के नाम से जानते हैं। अलग-अलग ड्रिंक्स का सहारा हम डिटॉक्सीकरण के लिए लेते हैं। मिट्टी के घड़े में रखे पानी को यदि हम पीएं तो हमारे शरीर में मौजूद यह गंदगी आराम से बाहर निकल जाती है। मिट्टी के घड़े का पानी (Mitti ke Ghade ka Pani) पीने से होने वाले फायदे इसका सेवन करने के बाद खुद महसूस होने लगते हैं।

प्राकृतिक तरीका पानी को ठंडा करने का

यदि आप मिट्टी के घड़े में पानी को जमा करके इसे आसानी से ठंडा कर लेते हैं तो इससे पर्यावरण को भी नुकसान नहीं पहुंचता है। मिट्टी के घड़े में कुछ ऐसी विशेष प्रक्रिया होती है, जिसकी वजह से इसमें पानी को जमा करने के कुछ ही देर के बाद पानी को यह ठंडा करना शुरू कर देता है। लगभग 2 घंटे के बाद यदि आप इसका पानी पीते हैं तो आपको बिल्कुल वैसी ही ठंडक का अहसास होता है जैसा कि फ्रीज में रखे हुए पानी से आपको मिलता है। यही कारण है कि मिट्टी के घड़े का पानी (Mitti ke Ghade ka Pani) पीने से आपके स्वास्थ्य को कोई खतरा भी नहीं होता है।

सनस्ट्रोक से करता है बचाव

कई वैज्ञानिक अध्ययनों में इस बात का खुलासा हो चुका है कि मिट्टी के घड़े का पानी (Mitti ke Ghade ka Pani) यदि आप पीते हैं तो गर्मियों में सनस्ट्रोक से आपका बचाव हो पाता है। प्राकृतिक रूप से चूंकि मिट्टी के घड़े का पानी ठंडा होता है, इसलिए शरीर को लंबे समय तक ठंडक प्रदान करके यह सनस्ट्रोक की चपेट में आने से बचाता है।

इस तरह से गर्मी के दिनों में मिट्टी के घड़े का पानी (Mitti ke Ghade ka Pani) पीना स्वास्थ्य के लिए बहुत ही लाभदायक होता है।

Facebook Comments