Jamun ke Fayde: आमतौर पर फल सभी को पसंद आते हैं और चूंकि फल भी तरह-तरह के होते हैं तो ऐसे में लोगों की पसंद भी अलग-अलग होती है। बता दें कि जामुन भी एक तरह का फल होता है जिसे अमूमन सभी लोग बहुत ही ज्यादा चाव से खाते हैं और शायद ही ऐसा कोई होगा जिसे जामुन खाना पसंद न हो। बारिश के मौसम की शुरूआत होते ही बाजार में जामुन की बिक्री शुरू हो जाती है। रस से भरे जामुन को खाना सभी पसंद करते हैं, लेकिन क्या आपको पता है कि जामुन खाने से ढेर सारे फायदे भी होते हैं। नहीं पता तो चलिए आज हम आपको बताते हैं जामुन खाने के फायदों के बारे में जो शायद ही आप जानते होंगे।

जामुन खाने के फायदे [Jamun ke Fayde]

Jamun
patrika

आयुर्वेद चिकित्सा में तरह-तरह के रोग, विकारों को ख़त्म करने के लिए जामुन के पत्ते, छाल, फलों का सेवन किया जाता है। मधुमेह रोग में जामुन की गुठली का चूर्ण बनाकर सेवन किया जाता है। पाचन संबधित विकार और यकृत, जिगर के रोगों के लिए जामुन बहुत गुणकारी औषधी है। ऐसे ही बहुत सारे उपचार हैं जो जामुन की मदद से किये जाते हैं।

मसूढ़ों के लिये है फायदेमंद

Jamun benefit
lifealth

बता दें कि यदि आप जामुन के कोमल पत्तों को पानी में उबालकर और छानकर उस जल से कुल्ला  करते हैं तो मसूढ़ों की सूजन कम होती है और और रक्त निकलने की विकृति नष्ट होती है। जामुन के सूखे पतों का पेस्ट बनाकर मंजन की तरह दांतों पर मलने से दांत मजबूत होते हैं।

मधुमेह रोगियों के लिये लाभकारी

Diabetes
thelucknowtribune

स्वाद में तो जामुन स्वादिष्ट ही होता है इसके अलावा मधुमेह रोगियों के लिए जामुन बेहद फायदेमंद होता है। यह इंसुलिन को नियंत्रित रखने का काम करता है। जामुन की गुठलियों को सुखाकर उसका पाउडर बना लें और इसे गुनगुने पानी के साथ खाली पेट 1 चम्मच लें। इससे शुगर लेवल ठीक रहेगा।

त्वचा निखारने में भी है बेहद उपयोगी

Skin
sazworld

जानकरी के लिए बता दें कि जामुन त्वचा का रंग निखारने में भी बहुत लाभदायक माना जाता है। जिन लोगों को सफेद दाग है उनके लिए जामुन बहुत ही फायदेमंद होता है। जामुन का पेस्ट बना कर उसे अपने सफेद दागों पर लगाएं। इससे आपके दाग हल्के पड़ने लगेंगे और थोड़े समय बाद हट जाएंगे

उल्टी या पीलिया की बीमारी में भी है फायदेमंद

jaundice
amarujala

अगर आपको बार-बार उल्टियां आ रही हों तो जामुन का शर्बत बनाकर, जिसमें मिश्री डाली गई हो, देने से लाभ होता है। इसके अलावा पीलिया की बीमारी में भी जामुन का सेवन बहुत लाभकारी होता है। पीलिया होने पर इसके ताजा फलों के रस में शहद मिलाकर सेवन करने से राहत मिलती है।

एसिडिटी से दिलाए निजात

Acidity
hindisahayta

एसिडिटी की समस्या से छुटकारा पाने के लिए काले नमक में भुना जीरा मिलाकर पीस लें और इसका जामुन के साथ सेवन करें। कुछ ही समय में आपको असर दिखने लगेगा।

गैस की समस्या करता है दूर

Gas problem
gasofast

बताना चाहेंगे कि जामुन की छाल और बीज का पावडर पेट में गैस की समस्याओं को दूर करने में उपयोग किया जाता है। इसके अलावा यह डायरिया, अपच और पेचिश के इलाज में भी बहुत प्रभावी रूप से काम करता है। इसलिए लोग पेट की इन समस्याओं से निजात पाने के लिए जामुन का उपयोग करते हैं।

दोस्तों, उम्मीद करते हैं कि आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया होगा। पसंद आने पर लाइक और शेयर करना न भूलें।

Facebook Comments