सोलह श्रृंगार में क्या क्या होता है ? Solah Singar me Kya Kya Hota Hai

1.बिंदी

bindi
ancient

वैसे तो महिलाएं बिंदी का इस्तेमाल आमतौर पर किया करती हैं। लेकिन सही मायने में बिंदी सुहागन महिलाओं के सोलह श्रृंगार में शामिल है। ऐसा कहते हैं कि घर कि महिलाएं अगर बिंदी लगाती हैं तो घर में सुख-समृद्धि का माहौल बना रहता है। जिस हिस्से में बिंदी लगाते हैं। वह स्थान आज्ञा चक्र की होती है। जिसका संबंध मन से भी होता है। यहां बिंदी लगाने से मन की एकाग्रता भी बनी रहती है।

2.गजरा

gajra
shpock

गजरे की खुशबू तो वैसे भी किसी के मन को मोह लेती है, लेकिन श्रृंगार में गजरे का महत्व इसलिए भी है क्योंकि यह फूलों का बना होता है।

3.टीका(मांगटीका)

maang tikka
weddingsonly

विवाहित महिलाएं अपने माथे के बीच में एक तरह का आभूषण लगाती हैं। इस आभूषण को मांगटीका या टीका कहा जात है। आमतौर पर यह सोना या चांदी का बना हुआ होता है।

4.सिंदूर

sindoor
bollywoodshaadis

सिंदूर को सुहाग की निशानी भी माना जाता है। ऐसी मान्यता है कि मांग में सिन्दूर लगाने से पति की उम्र लंबी होती है, वैज्ञानिक कारणों की मानें तो सिंदूर लगाने वाले स्थान पर मस्तिष्क की एक महत्त्वपूर्ण ग्रंथि होती है।

5.काजल

kajal
youtube

काजल का इस्तेमाल महिलाएं अपने आखों की खूबसूरती को बढ़ाने के लिए करती हैं। 16 श्रृंगार में शामिल काजल के प्रयोग से आंखों की हिफाजत भी कई सारे रोगों से होती है।

6.मंगल सूत्र और हार

mangalsutra
dnaindia

मंगलसूत्र महिलाओं के श्रृंगार का एक अहम हिस्सा है, कहते हैं कि मंगलसूत्र में मौजूद काली मोतियां स्त्री पर किसी भी तरह की बूरी नजर का असर नहीं पड़ने देती हैं।

7.लाल कपड़ा

laal lehenga
lalgulal

लाल रंग को ऐसे भी सुहाग की निशानी मानते हैं। विवाह के दौरान महिलाओं के लिए जरूरी होता है कि वह विवाह के समय लाल रंग के ही कपड़े को पहने।

8.मेहंदी

mehndi
kfoods

किसी भी महिला के लिए मेहंदी भी अनिवार्य श्रृंगार माना गया है। कुंवारी लड़कियां भी कई बार शुभ मौकों पर अपने हाथों मे मेहेंदी लगाती हैं। कहते हैं कि जिन महिलाओं के हाथों में मेहेंदी जितनी रंग लाती है उसका होने वाला या मौजूदा पती उसे उतना ही ज्यादा प्यार करता है।

9.बाजूबंद

bajubandh
dwarkeshjewels

सोने या चांदी के कड़े स्त्रियां बाहों में धारण करती हैं, इन्हें बाजूबंद कहा जाता है। ये आभूषण स्त्रियों के शरीर से लगातार स्पर्श होते रहता है, जिससे धातु के गुण शरीर में प्रवेश करते हैं, ये स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होते हैं।

10.नथ

nath
youtube

सुहागिन स्त्रियों के लिए नथ बेहद ही महत्वपूर्ण माना जाता है। इसे महिलाएं अपने नाक में धारण करती हैं, इसे पहनने के लिए कानों की तरह नाक को भी छिदवाना पड़ता है। कुछ महिलाएं बिना नाक छिदवाए ही नथ पहन लेती हैं, लेकिन आपको बतादें कि नाक छिदवाने से एक्यूपंक्चर के लाभ मिलते हैं।

11.कानों के कुंडल
kano ke kundal
shopclues

कानों में पहने जाने वाले कुंडल भी महिलाओं के श्रृंगार का एक अहम हिस्सा होता है, यह सोना या चांदी का बनाया जाता है।

12.चूड़ियां या कंगन
chudiya
timeshindi

स्त्रियों को चूड़ी पहनना बहुत पसंद होता है। चूड़ियां लाह, कांच, सोना या चांदी जैसी धातुओं से तैयार की जाती है। विवाह के बाद चूड़ियां भी सुहाग की निशानी हो जाती है।

13.कमरबंद
kamarband
fashionlady

कमरबंद कमर में पहनने जाने वाला आभूषण है। पुराने जमाने में विवाह के बाद स्त्रियां कमरबंद को अनिवार्य रूप से पहना करती थी।

14.अंगूठी
anguthi
samacharnama

वैसे तो अंगूठी पहनना आम बात है, लेकिन यह भी सोलह सिंगार की सूची में शामिल एक गहना है।

15.पायल
payal
beendani

पायल महिलाओं के पैरों में पहने जाने वाला एक महत्वपूर्ण गहना है। यह चांदी का बना होता है, पायल के घुंघरू की आवाज से घर का वातावरण सकारात्मक रहता है।

16.बिछुए
bichua
ujjawalprabhat

पैरों की उंगलियों में पहने जाने वाली अंगूठी को बिछुआ कहते हैं। जिसे महिलाएं शादी के बाद ग्रहण करती हैं।

Facebook Comments