Buddha poornima 2020: भारत में बुद्ध पूर्णिमा का विशेष महत्व है। कहा जाता है कि हिंदू पंचांग के अनुसार वैशाख पूर्णिमा के दिन ही भगवान गौतम बुद्ध का जन्म हुआ था। और संजोग की बात यह है कि इसी दिन भगवान बुद्ध को बोध गया में बोधि वृक्ष के नीचे ज्ञान की प्राप्ति हुई थी। ऐसा किसी अन्य महापुरुष के साथ कभी नहीं हुआ है। इसीलिए इस दिन को बुद्ध पूर्णिमा के रूप में मनाया जाता है। इस साल यानि 2020 में यह पूर्णिमा 7 मई को पड़ रही है।

हिंदू धर्म में भगवान बुद्ध को विष्णु भगवान का अवतार माना जाता है। इस पूर्णिमा को सिद्ध विनायक पूर्णिमा भी कहा जाता है। इस दिन को लेकर हिंदू धर्म में पूजा की विशेष नियम बने हैं। इन नियमों का सही से पालन करने पर मनोच्छा पूरी होती है। बुद्ध पूर्णिमा के दिन पूजा पाठ करते हुए आपको कुछ बातों का विशेष ध्यान रखना आवश्यक है। आइए जानते हैं।

बुद्ध पूर्णिमा का शुभ मुहूर्त 6 मई शाम 7 बजकर 44 मिनट से पूर्णिमा की समाप्त तिथि 7 मई को शाम 4 बजकर 14 मिनट तक रहेगा। इस दिन आपको भूलकर भी ये चीज़ें नहीं करनी है।

बुद्ध पूर्णिमा पर न करें ये सब – Buddha poornima 2020

Buddha Poornima 2020
Latest News Headline
  • बुद्ध पूर्णिमा के दिन मांस खाने का त्याग करदें। इस दिन भूलकर भी मांस को हाथ न लगाएं नहीं तो कुछ अशुभ होता है।
  • घर परिवार में शांति का माहौल बनाए रखें। किसी भी तरह का कलेश इस दिन घर में न करें।
  • किसी को भी चाहे वो छोटा हो या बड़ा, गरीब हो या अमीर, किसी को भी अपशब्द न बोलें या उनका अपमान न करें।
  • आज के दिन झूठ न बोलें।
  • उपवास रखा है तो केवल फल ही खाएं, हर घंटे कुछ न कुछ ना खाते रहें।

करें ये काम-

  • बुद्ध पूर्णिमा के दिन सुबह जल्दी उठकर साफ-सफाई करके सूर्य भगवान को अर्क दें।
  • मंदिर में विष्णु जी की मूर्ती के सामने दिया जलाकर उनकी आरती करें।
  • शुभ और सकारात्मक ऊर्जा के लिए घर के मुख्य द्वार पर हल्दी, रोली या सिंदूर से स्वस्तिक बना लें और उस पर गंगाजल का छिड़काव करें।
  • यदि आप भगवान विष्णु की पूजा-अर्चना करने के बाद गरीबों को खाना खिलाएंगे और कपड़े दान करेंगे तो आपकी मनो कामना पूरी होगी।
  • यदि आपने किसी पक्षी को पाल रखा है और उसे पिंजरे में बंद कर रखा है तो उसे आद के दिन आज़ाद कर दें।
  • इसके बाद शाम को उगते चंद्रमा को जल चढ़ाएं
  • यदि आपने उपवास रखा है तो उपवास खोलने से पहले जल को थाली के चारों ओर पांच बार घुमाएं और हाथ जोड़कर भगवान विष्णु प्रार्थना करें।
  • इसके बाद थाली में से एक निवाला निकालकर अलग रखें।

यह भी पढ़े:

इस तरह के लाफिंग बुद्धा (Laughing Buddha) को घर में रखने से चमक जाएगी किस्मत

Facebook Comments