संयुक्त अरब अमीरात में 19 सितंबर से शुरू होने वाले इंडियन प्रीमियर लीग के 13वें संस्करण में स्कोर का हिसाब-किताब रखने के लिए पश्चिम बंगाल में एक किराने की दुकान में काम करने वाले सूर्यकांत को चुना गया है।

19 सितंबर से आईपीएल-2020(IPL 2020) का आगाज होने वाला है। इस साल इसका आयोजन यूएई में किया जाएगा, जिसकी तैयारी ज़ोर-शोर से शुरू हो चुकी हैं। इसी से जुड़ी एक खबर ऐसी आई है, जिसने सबको चौंका दिया। पश्चिम बंगाल के रहने वाले सूर्यकांत पंडा(Suryakanta Panda) को आईपीएल में इलेक्ट्रोनिक स्कोर कीपर बनने का मौका मिला है, जो की वहाँ एक स्थानीय किराने की दुकान में दहाड़ी मजदूर हैं। यह उनकी ज़िंदगी का एक खुशनूमा पल होगा जब वे पहली बार एयरपोर्ट जाएंगे और हवाई यात्रा करेंगे।

Suryakanta Panda in IPL 2020
Image Source – Aajtak

पश्चिम बंगाल के हुगली जिले के चिनसुराह के रहने वाले 32 वर्षीय सूर्यकांत पंडा(Suryakanta Panda) का सपना सच हो गया है। सूर्यकांत एक रसोइया के बेटे हैं और 10वीं तक पढे हैं। दशकों पहले वे आजीविका की तलाश में उड़ीसा से बंगाल चले गए थे।

सूर्यकांत आईपीएल(IPL 2020) के इलेक्ट्रॉनिक स्कोरर(Electronic Scorer) के रूप में दुबई जाने के लिए पश्चिम बंगाल से चुने गए एक मात्र शख्स हैं। वे हमेशा से क्रिकेटर बनना चाहते थे लेकिन उड़ीसा से पश्चिम बंगाल का रुख करने के कारण उनका यह सपना अधूरा ही रह गया।

पश्चिम बंगाल में आजीविका चलाने के लिए वे यहीं पर एक स्थानीय किराने की दुकान में काम करने लगे। हालांकि 2002-2003 के दौरान उन्होंने हुगली डिस्ट्रिक्ट स्पोर्ट्स एसोसिएशन के मैदान पर कुछ मैच खेले लेकिन जारी नहीं रख सके। इसलिए उन्होने मैच स्कोरर बनने का फैसला किया।

BCCI Select Grocery Store Worker For IPL Scorer
Image Source – Aajtak

एक इंटरव्यू के दौरान उन्होंने कहा, “मैं हमेशा से क्रिकेटर बनना चाहता था लेकिन कई पारिवारिक समस्याओं के कारण बन नहीं पाया। हालांकि, मैं हमेशा से खेल से जुड़े रहना चाहता था और इसलिए स्कोरर बनने का फैसला किया। 2015 में मैंने सीएबी का एग्जाम दिया और पास हो गया”

सूर्यकांत 2015 से सीएबी द्वारा आयोजित अधिकांश मैचों में स्कोरर के रूप में कार्यरत हैं। उनके लगातार प्रयास और दृढ़ संकल्प के कारण उन्हें 2018 में सीएबी सचिव अवधेश डालमिया द्वारा सर्वश्रेष्ठ स्कोरर के पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

सूर्यकांत पंडा(Suryakanta Panda) अपनी सारी उपलब्धियों का श्रेय अपने मैंटर कौशिक साहा और रक्षित साधु को देते हैं। सूर्यकांत की इस उपलब्धि पर उनकी किराने की दुकान के मालिक विश्वनाथ साधुखान भी बेहद खुश हैं और हुगली डिस्ट्रिक्ट स्पोर्ट्स एसोसिएशन के संयुक्त सचिव विकास मल्लिक भी सूर्यकांत की इस उपलब्धि पर बेहद गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं।

यह भी पढ़े

19 सिंतबर से 10 नवंबर तक खेले जाने वाले आईपीएल टूर्नामेंट के लिए सूर्यकांत पहले 19 अगस्त को बेंगलुरु और फिर 27 अगस्त को दुबई के लिए उड़ान भरेंगे।

जब सूर्यकांत से पूछा गया की वे दुबई पहुँचने के बाद सबसे पहले क्या करेंगे तो उन्होने कहा  “मैं स्कोरिंग सिस्टम को ठीक से समझने पर फोकस करूंगा क्योंकि यही मेरा काम है और मैच खत्म होने के बाद खिलाड़ियों से ऑटोग्राफ लेने के बारे में सोचूंगा”।

सूर्यकांत पंडा(Suryakanta Panda) आगे जाकर बीसीसीआई की परीक्षा पास कर राष्ट्रीय टीमों के लिए यह काम करना चाहते हैं।

Facebook Comments