कर्नाटक प्रीमियर लीग (केपीएल) में हुए मैच फिक्सिंग को लेकर सेंट्रल क्राइम ब्रांच जांच में जुटी हैं। क्राइम ब्रांच भारतीय क्रिकेटर के पूर्व तेज गेंदबाज रहे अभिमन्यु मिथुन से केपीएल में हुई सट्टेबाजी के मामले में पुछताछ कर रही। क्राइम ब्रांच ने तेज गेंदबाज अभिमन्यु मिथुन को नोटिस जारी कर उपस्थित होने को कहा है। इस बात की पुष्टि कर रहे संयुक्त कमिश्नर संदीप पाटिल ने बताया कि मिथुन को सीसीब के सामने पूछताछ के लिए पेश होना होगा। फिलहाल मिथुन टी 20 के लिए सुरत में मैच खेल रहे हैं। कमिश्नर संदीप पाटिल ने इसकी सूचना बीसीसीआई को भी दी है। फिलहाल सेंट्रल क्राइम ब्रांच मिथुन से कुछ ऐसे सवाल करना चाहती है जो कर्नाटक प्रीमियर लीग से जुड़ा है।

this player of team india involved in kpl match fixing
bizlegend

केपीएल मैच फिक्सिंग में सट्टेबाजी का खेल अब पूरी तरह से अन्तिम कगार पर आ पहुंचा है। जिसमें क‌ई खिलाड़ियों का भी मुखौटा सामने आया है। बता दें कि अभिमन्यु मिथुन इंटरनेशनल क्रिकेट में बेहद अच्छे गेंदबाज रहे चुके हैं। उन्होंने भारतीय टीम के लिए 2010 और 2011 में चार टेस्ट और पांच इंटरनेशनल मैच खेला है। सेंट्रल क्राइम ब्रांच ने जुलाई से लेकर अब तक आठ लोगों को इस मामले में गिरफ्तार किया है। इसके साथ ही बेलगावी पैंथर्स के मालिक अली अश्फाक थारा भी पहले से ही गिरफ्त में हैं। पिछले वर्ष हो रही कनार्टक प्रीमियर लीग के सीजन में अभिमन्यु मिथुन ने शिवमोगा लायंस टीम की कप्तानी भी कर चुके हैं। परन्तु उनकी कप्तानी में टीम एक बार भी मैच जीत नहीं पाई है। केपीएल सट्टेबाजी में मैच फिक्सिंग के खेल में अब खिलाड़ियों को सीसीबी के पिछले सीजन से जुड़े सवालों का उत्तर देना होगा। अब देखना ये है कि सेंट्रल क्राइम ब्रांच की जांच में मिथुन निर्दोष साबित होते हैं या गुनहगार, बीते कुछ दिनों पहले ही अभिमन्यु ने अपना जन्मदिन काफी उत्साह के साथ मनाया था। अपने जन्मदिन पर तमिलनाडु के खिलाफ विजय हजारे ट्राॅफी के फाइनल में कर्नाटक की ओर से खेलते हुए उन्होंने 50वें ओवर में बहुत ही शानदार प्रर्दशन कर इतिहास रचा था।

Facebook Comments