विनेश फोगाट एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाली विनेश फोगाट ने अगले साल टोक्यो में होने वाले ओलम्पिक खेलों के लिए क्वालिफाई कर लिया है। इसके साथ ही वह इस खेल में क्वालीफाई करने वाली पहली महिला भी बन गई है। उन्होंने 50 किग्रा कैटेगरी में रेपचेज राउंड-2 मुकाबले में दुनिया की नंबर एक पहलवान अमेरिका की सारा हिल्डरब्रैंट को हराकर कांस्य पदक मुकाबले में अपनी जगह बनाई। इसी के साथ विनेश ने 2020 के ओलंपिक में जाने के लिए अपना टिकट पक्का कर लिया है। खबरों के मुताबिक अब विनेश का मुकाबला जर्मनी की मारिया प्रेवालार्की से होने वाला है। विनेश इस दौरान अपना तीसरा विश्व चैम्पियनशिप खेल रही हैं। उन्होंने इस चैम्पियनशिप मुकाबले में रजत पदक विजेता हिल्डरब्रैंट को 8-2 से पराजित किया। विनेश ने इससे पहले रेपचेंज राउंड-1 में यूक्रेन की यूलिया ब्लाहिन्या को 5-0 से शिकस्त दी थी।

इस जीत के बाद विनेश बहुत ज्यादा खुश नजर आईं इस दौरान उन्होंने कहा कि, “मैं बहुत खुश हूं। विश्व चैम्पियनशिप में मैं कभी पदक नहीं जीती हूं और अब मेरे पास मौका है और मैं इसमें अपना सर्वश्रेष्ठ देने की कोशिश करूंगी।”विनेश के लिए मुश्किल रहा मुकाबला

vinesh phogat
india today

विनेश के लिए आसान नहीं था रास्ता

इससे पहले भी विनेश एक शांदार शुरुआत कर चुकी हैं। उन्होंने क्वालिफिकेशन में रियो ओलम्पिक की पदक विजेता स्वीडन की सोफिया मैटसन को 13-0 के बड़े अंतर से शिकस्त दी थी। लेकिन प्री क्वार्टरफाइनल में जापान की मायु मुकाइदा से 0-7 से हार का सामना करना पड़ा था। यह विनेश के लिए एक ध्यान देने योग्य बात है कि इससे पहले भी पहले एशियाई चैम्पियनशिप में उन्हें मुकाइदा से हार का सामना करना पड़ा था।
लेकिन मुकाइदा के इस वर्ग के फाइनल में जगह बनाने के साथ ही विनेश को रेपेचेज राउंड में उतरने का मौका मिल गया। और इसी के साथ विनेश ने रेपेचेज के पहले राउंड में यूक्रेन की यूलिया ब्लाहिन्या को 5-0 से हराकर रेपचेज राउंड-2 में प्रवेश किया। विनेश ने फिर रेपचेज राउंड-2 में हिल्डरब्रैंट को हराकर ना केवल टोक्यो ओलम्पिक कोटा हासिल किया बल्कि उन्होंने कांस्य पदक मुकाबले में भी प्रवेश कर लिया।

इस बीच, सीमा बिस्ला (जो कि 50 किग्रा कैटेगरी में शामिल हैं) को रेपचेज राउंड-2 में रूस की एकातेरिना पोलेशचुक से 3-11 से हार का सामना करना पड़ा। इस हार के कारण सीमा टोक्यो ओलम्पिक के लिए क्वालीफाई नहीं कर पाईं। वहीं, 76 किग्रा में किरण जर्मनी की एलिन रोटर के खिलाफ 4-0 की बढ़त बनाने के बावजूद दूसरे राउंड में लगातार पांच अंक गंवा बैठी और उन्होंने 4-5 से करीबी हार का सामना करना पड़ा। 57 किग्रा के क्वालीफिकेशन मुकाबले में सरिता मोर को मोल्दोवा की एनासतासिया निचिता से 1-5 से शिकस्त झेलनी पड़ी।

Facebook Comments