Web Hosting Kya Hai: कई सारे लोगों के मन में एक ख्याल हर वक्त आता रहता है कि वेब होस्टिंग क्या होता है। जब कभी भी कोई व्यक्ति अपने वेबसाइट को लांच करने के बारे में सोचता है। तो उसे यह शब्द हमेशा सुनने को मिलती है कि इसके लिए उसे एक वेब होस्टिंग की जरूरत पड़ने वाली है। तो हम आपको बताने जा रहे हैं कि आखिर वेब होस्टिंग क्या है और यह कैसे काम करता है। इसे आसान शब्दों में कुछ ऐसे समझा जा सकता है कि जिस तरीके से आपको दुकान चलाने के लिए एक जमीन या प्लॉट की आवश्यकता होती है। उसी तरीके से आपको आपके बिजनेस के लिए वेबसाइट को लोगों के सामने दिखाने के लिए और ऑनलाइन ले जाने के लिए होस्टिंग की जरूरत पड़ती है। यह आपके वेबसाइट पर नजर आने वाले फाइल्स को जगह प्रदान करता है। ताकि उसका एक्सेस आम लोगों तक आसानी से पहुंच सके।

Web Hosting कैसे कार्य करती है? [Web Hosting Kya Hai]

वेब होस्टिंग के जरिए वेबसाइट की फाइल्स वेब सर्वर जिसे टेक्निकल भाषा में उच्च स्तरीय कंप्यूटर्स कहते हैं। पर स्टोर कर देती है। इसके बाद जरूरत होती है आपको आपके व्यवसाय के विजिबिलिटी की ताकि कोई व्यक्ति आपके वेबसाइट तक आसानी से पहुंच सके और होस्टिंग सेवा आपको यही सुविधा देती है। जब कोई व्यक्ति आपकी वेबसाइट तक पहुंचने के लिए उसका एड्रेस या यूआरएल अपने ब्राउज़र पर लिखता है। तब यह वेब सर्वर उस व्यक्ति के रिक्वेस्ट को एक्सेप्ट करता है और उसे सीधे आपके वेबसाइट तक पहुंचने का एक्सेस दे देता है। इससे उसकी कंप्यूटर स्क्रीन पर आपकी वेबसाइट दिखने लगती है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि आपके वेबसाइट की एक कॉपी वेबसाइट को खोजने वाले के कंप्यूटर स्क्रीन पर खुल जाती है।

कितने तरह के होते हैं वेब होस्टिंग

वेब होस्टिंग प्रदान कराने वाली कंपनियां कई तरह की होस्टिंग सेवाएं उपलब्ध करवाती हैं जिनमें-

  1. Shared Server होस्टिंग
  2. Virtual Private Server (VPS) होस्टिंग
  3.  Dedicated Server होस्टिंग
  4. Cloud  होस्टिंग
  5. WordPress होस्टिंग शामिल है।

आपको किस प्रकार की होस्टिंग लेनी चाहिए ये आपकी वेबसाइट की आवश्यकताओं पर निर्भर करता है क्योंकि हर बिज़नेस/वेबसाइट की जरूरतें अलग-अलग होती हैं जिनको ध्यान में रखते हुए ही सही होस्टिंग का चुनाव करना चाहिए।

आइये होस्टिंग के विभिन्न प्रकारों के बारे में जानते हैं विस्तारपूर्वक-

1. Shared Server होस्टिंग

यह होस्टिंग एक होटल के समान है। जिस तरीके से होटल में कई सारे कमरे होते हैं और वहां आने वाले लोग अपने अपने कमरे में अपना स्थान ग्रहण करते हैं। उसी तरीके से इस होस्टिंग में कई सारे वेबसाइट रन कर रहे होते हैं। इस होस्टिंग प्रकार के अंतर्गत एक physical server पर बहुत सारी websites की मेज़बानी की जाती है। Shared server इन सभी websites को web space और CPU, RAM जैसे संसाधनो को एक साथ इस्तमाल करने की सुविधा उपलब्ध कराता हैं। जिसके परिणामस्वरूप इस होस्टिंग प्रकार की लागत बाकी दोनों प्रकार की होस्टिंग्स से कम होती है। अतः अगर आप एक सीमित बजट के start-up है और आपको लगता है कि आपका वेबसाइट ट्रैफिक भी सीमित रहेगी तो शेयर्ड होस्टिंग आपके लिए बढ़िया विकल्प है।

2. Virtual Private Server होस्टिंग

यह होस्टिंग आपके रहने लायक एक फ्लैट के समान है। जहाँ आप भले ही आप अपना main गेट सबके संग शेयर कर रहे हैं। लेकिन यहां आप अपनी निजता को बरकरार रख सकते हैं। VPS होस्टिंग virtualization तकनीक का प्रयोग करती है, जिसके अंतर्गत एक physical server को virtually विभिन्न servers में विभाजित किया जाता है, परिणामवश एक ही server पर होते हुए भी बाकी websites आपके हिस्से के web space और संसाधनो का उपयोग नहीं कर पाती हैं। इस कारण ये होस्टिंग आपको निजता और सुरक्षा जैसे लाभ प्रदान करती है। अतः अगर आप कम लागत में dedicated server की विशेषताओं का लाभ उठाना चाहते हैं तो VPS होस्टिंग का चुनाव करें।

3. Dedicated Server होस्टिंग

यह होस्टिंग आपका एक स्वतंत्र घर है। जैसा कि एक बंगला या डुप्लेक्स होता है। यहां आपका पूरा नियंत्रण होता है। लेकिन इसके एवज में इसका पूरा खर्चा भी आप ही को उठाना पड़ता है। डेडीकेटेड सर्वर होस्टिंग का चुनाव करने से आपको एक फायदा यह होता है कि कंपनी के द्वारा इसके लिए आपके पास पूरा रूट एक्सेस होता है। इस होस्टिंग के सर्वर किसी दूसरे यूजर के लिए पूरी तरह से प्रतिबंधित होते हैं। इसमें दिए जाने वाली सुविधा और संसाधन का इस्तेमाल कोई और नहीं कर सकता है। हाई सिक्योरिटी परपस के लिए ज्यादातर लोग डेडीकेटेड होस्टिंग सर्वर का चुनाव करते हैं। Dedicated होस्टिंग अपने उच्च प्रदर्शन,सुरक्षा और नियंत्रण जैसे फायदों के कारणवश e-commerce, गोपनीय और संवेदनशील तथ्यों वाली, बड़े database एवं उच्च यातायात वाली साइटों के लिए इस तरह के होस्टिंग प्लान को चुनाव करना बेहद ही जरूरी होता है। जरूरी है कि आप भी अपने बिजनेस की जरूरतों को समझें और उसके अनुसार ही सही वेब होस्टिंग प्लान का चुनाव करें।

4. Cloud  होस्टिंग

Cloud वेब होस्टिंग आज के समय में वेब होस्टिंग का एक बेहतरीन विकल्प है। अगर आप इस होस्टिंग प्लान का चुनाव करते हैं। तो इसमें डाउन टाइम ना के बराबर होता है। इस प्लान के जरिए आपको वेब होस्टिंग कंपनी एक क्लस्टर प्रदान करती है। जिसके तहत आपके फाइल्स और रिसोर्सेज की कॉपी उन सर्वर पर अपने आप ही बन जाती है। सबसे अच्छी बात यह होती है कि अगर कोई क्लाउड सर्वर किसी वजह से आपको सर्विसेज देने में असमर्थ होता है तो आपकी साइट का सारा ट्रैफिक दूसरे क्लाउड सर्वर पर अपने आप भेज दिया जाता है। इस होस्टिंग के अपने आप में कई सारे फायदे हैं। जैसे कि सर्वर फेल होने की स्थिति में भी आपके कस्टमर सर्विसेज में इससे कोई फर्क नहीं पड़ता है। यह बेहद सस्ता और affordable इसलिए भी होता है। क्यूंकि आप इसमें केवल उन रिसोर्सेज का भुगतान करते है। जिनका आप इस्तेमाल करते हैं। ये VPS से ज्यादा स्केलेबल होता है ।

5. WordPress होस्टिंग

वर्डप्रेस  होस्टिंग एक प्रकार की shared होस्टिंग ही होती है, जिसको मुख्यतः वर्डप्रेस साइट्स के लिए ही बनाया गया है। इस में आपका सर्वर वर्डप्रेस के लिए ही configure किया जाता है और साइट के साथ पहले से ही जरुरी plugins जिससे साइट सिक्योर बने, caching में मदद हो, दे दिए जाते है। वर्डप्रेस के लिए अति अनुकूल होने के कारण यह होस्टिंग आपकी वर्डप्रेस साइट को अद्वितीय स्पीड प्रदान करती है और आप अपनी साइट की देखरेख आसानी से कर पाते हैं।

Web होस्टिंग कहाँ से ले?

IT उद्योग में वेब होस्टिंग प्रदाताओं की भीड़ में best web hosting company का चुनाव करना थोड़ा मुश्किल है। लेकिन अगर आप अपने जरूरतों को ध्यान में रखते हुए होस्टिंग प्रोवाइडर कंपनी का चुनाव करते हैं। तो यह आपके लिए बेहद सरल और आसान हो जाता है। कंपनी से होस्टिंग खरीदने से पहले आप कुछ चीजों का ध्यान रखें। जैसे कि टेक्निकल सपोर्ट, बैकअप और फ्री वैल्यू ऐडेड सर्विसेज।

Facebook Comments