Thailand ke Paryatan Sthal: दक्षिण पूर्वी एशियाई देशों की सूची में शामिल थाईलैंड टूरिज्म के माध्यम से बेहद लोकप्रिय देश रहा है। थाईलैंड का पूरा इलाका उष्णकटिबंधीय समुद्र तटों से घिरा हुआ है। यहां लोग प्राचीन खंडहरों और बुद्ध से जुड़े अलंकृत मंदिरों को देखने के लिए आते हैं। थाईलैंड की राजधानी बैंकॉक में हर साल एक भारी संख्या में लोग घूमने के लिए आते हैं। यहां आकर लोग अल्ट्रामॉडर्न सिटीस्केप, शांत नहरें, वाट अरुण, वाट फो और एमराल्ड बुद्धा टेम्पल का दीदार करते हैं। थाइलैंड अपने खानपान के साथ-साथ क्रिस्टल ब्लू सी बीच, घने जंगल और बेहतरीन होटलों(जो कि समुद्र तट पर बने हैं) के लिए भी जाना जाता है। यहां आने वाले लोग बेहद ही सस्ते दरों में दुनिया के कुछ बेहतरीन लक्जरी होटल में रहने का आनंद उठा सकते हैं। हर कोई अपनी छुट्टियाँ थाइलैंड में जाकर बिताना चाहते हैं लेकिन बहुत कम लोग जानते हैं कि किस तरीके से वहां पहुंचा जाए और वहां जाकर किन-किन जगहों पर घुमा जा सकता है। तो चलिए इस आर्टिकल के माध्यम से जानते हैं कि थाइलैंड का दौरा कब और कैसे किया जा सकता है। इसके अलावा थाइलैंड में वो कौन सी जगहें हैं। जहां आपको एक बार जरूर जाना चाहिए।

कब होता है थाइलैंड घूमने का सही समय

Thailand
lovepik

थाईलैंड की जलवायु मुख्य रुप से उष्णकटिबंधीय आर्द्र और शुष्क या सवाना जलवायु है। चुकि यह पूरी तरह से एक टूरिस्ट प्लेस है। तो लोग यहां सालों भर घूमने फिरने के लिए आते रहते हैं। लेकिन अगर पर्यटन के नजरिए से देखा जाए तो यहां घूमने के लिए सबसे सही समय नवंबर से मई के बीच का होता है। दरअसल थाइलैंड मई से लेकर अक्टूबर के बीच मानसून के कारण बुरी तरह से प्रभावित रहता है। जिससे यहां आने वाले पर्यटकों को घूमने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। तो अगर आप थाईलैंड घूमने की तैयारी में हैं। तो नवंबर से मई के बीच का ही समय चुने।

थाईलैंड में घूमने की जगह

वैसे तो दुनिया भर से काफी संख्या में लोग थाइलैंड घूमने के लिए आते हैं। लेकिन यहां सबसे ज्यादा शैलानी भारत से ही पहुंचते हैं। यहां आने वाले लोग थाइलैंड की राजधानी बैंकॉक में अपना ज्यादा से ज्यादा वक्त बिताना चाहते हैं। बैंकॉक के आलावा भी ऐसी कई सारी जगहें हैं जहां लोग घूम फिर सकते हैं।

प्रसाद हिन फिमाई(थाइलैंड)

थाईलैंड के सबसे प्रभावशाली खमेर खंडहरों में से कुछ को समेटे हुए प्रसाद हिन फिमाई थाइलैंड के प्रमुख जगहों में से एक है। खंडहर के रूप में मौजूद यहां के मंदिर 11वीं और 12वीं शताब्दी में बनाए गए हैं। उस समय यह मंदिरें कमरे साम्राज्य का हिस्सा हुआ करते थें। इस मंदिर का निर्माण भले ही बौद्ध मंदिर के रूप में हुआ हो। लेकिन इसके नक्काशी में कई सारे देवी देवताओं की भी छवि नजर आती है।

खाओ याई नेशनल पार्क

Khao-Yai-National-Park
thainationalparks

खाओ याई राष्ट्रीय उद्यान थाईलैंड का तीसरा सबसे बड़ा राष्ट्रीय उद्यान है। जो कि देश के पूर्वी भाग के नाखून प्रांत में स्थित है। इस उद्यान में एशियाई हाथी और काले भालू के साथ-साथ कई अन्य जानवरों भी देखने को मिलते हैं। इस पार्क की खासियत यह है कि यहां डायनासोर के पैरों के निशान भी देखने को मिलते हैं।

इरावन जलप्रपात थाईलैंड पर्यटन स्थल

इरावान जलप्रपात (वॉटरफॉल) कंचनबुरी से थोड़ी दूरी पर स्थित है। यह वॉटरफॉल इस लिए भी खास है। क्योंकि यह एरावन नेशनल पार्क के बीचो-बीच बसा है और यहां का प्रमुख आकर्षण केंद्र है। इस झरने का नामकरण हिंदु पौराणिक कथाओं के तीन सर वाले हाथी के नाम पर किया गया है। इसकी एक खासियत और है कि यह पूरे साल सैलानियों के लिए खुला रहता है।

स्थल ओ नांग

यह एक लोकप्रिय बीच है जो कि दक्षिणी थाईलैंड के क्राबी प्रांत में स्थित है। इसका पूरा नाम ओ फ्रा नाग है। अगर आप समुद्र तट का आनंद लेना चाहते हैं। तो आपके लिए यह एक बेहतरीन जगह है। यहां हर रोज भारी संख्या में शैलानी मन को मोह लेने बाले सूर्योदय और सूर्यास्त को देखने के लिए आते हैं।

मु को आंग थोंग

Mu-Ko-Ang--Thong-National-P
thainationalparks

थाईलैंड की खाड़ी में बसा आंग थोंग एक बेहद ही लोकप्रिय राष्ट्रीय उद्यान है। आंग थोंग शब्द का अर्थ होता है, ‘सोने का कटोरा’ यहां कुल 42 द्वीप स्थित हैं। इस पार्क का मुख्यालय ‘को वुआ तलप’ है। अगर आप ऐसे जगहों पर बने सुंदर बंगले या होटलों में रहना चाहते हैं। तो यह जगह आपके लिए बेहतरीन विकल्प हो सकता है। यहां रहते हुए आप आसपास के द्वीपों और विचित्र रॉक संरचनाओं के अविश्वसनीय दृश्यों को गहरायी से देख सकते हैं।

सुखोथाई एक ऐतिहासिक पार्क

थाइलैंड के उत्तरी भाग में बसा सुखोथाई हिस्टोरिकल पार्क थाइलैंड का एक लोकप्रिय स्थल है। यहां सुखोथाई के बेहद ही पुराने खंडहर मौजूद हैं। जो कि 13वीं और 14वीं शताब्दी में बनाए गए थें। इस पार्क में 26 मंदिरों के साथ-साथ रॉयल पैलेस और 200 खंडहर मौजूद हैं। यहां आने वाले पर्यटक राष्ट्रीय संग्रहालय के माध्यम से सुखोथाई संस्कृति के बारे में जान सकते हैं।

फनोम रुंग

पूर्वोत्तर थाईलैंड में बसा फनोम रुंग एक हिन्दु मंदिर है। ऐसी मान्यता है कि यह मंदिर एक विलुप्त ज्वालामुखी पर स्थित है। नांग रोंग गांव के पास स्थित, यह मंदिर अभयारण्य 10वीं और 13वीं शताब्दी के बीच खमेर संस्कृति द्वारा बनाया गया था। बलुआ पत्थर और लेटराइट से निर्मित, फेनोम रुंग को शिव के पवित्र घर, कैलाश पर्वत का प्रतिनिधित्व करने के लिए बनाया गया था। इन जगहों के अलावा आप थाइलैंड सिमिलन द्वीप, हाद रिन की फुल मून पार्टी, अयुथैया हिस्टोरिकल पार्क, मु को चांग नेश्नल पार्क, ग्रैंड पैलेस, फांग न्गा खाड़ी, चियांग माई नाइट बाजार, कोह ताओ आइसलैंड होपिंग के साथ-साथ कई आकर्षित जगहों पर घूम सकते हैं।

थाइलैंड के बारे में कुछ और खास जानकारी

Thailand-medical-cannebis
forbes

थाइलैंड में इसके अलावा और भी कई सारी खास चीजें मौजूद हैं। जो कि दुनिया में शायद ही कहीं पाई जाती है। यहां दुनिया का सबसे छोटा स्तनपायी ‘भौंरा चमगादड़’ पाया जाता है। यहां के समुद्र में व्हेल शार्क भी बड़ी संख्या में पाए जाते हैं। आपको बता दें कि एक वक्त था। जब थाईलैंड में 20 वर्ष की उम्र से पहले सभी पुरुष बौद्ध भिक्षु बन जाते थें। लेकिन अब ऐसा नहीं होता है। इस प्रथा को अब यहां खत्म कर दिया गया है। इस देश की सबसे खास बात यह है कि यहां की पूरी आबादी का दसवां हिस्सा अकेला बैंकॉक में ही रहता है। जो कि इस देश की राजधानी है।

Facebook Comments