Neha Kakkar Life Story: जो तपता है, दमकता भी वही है। बॉलीवुड सिंगर नेहा कक्कड़ पर यह बात शत-प्रतिशत सटीक बैठती है। इंडस्ट्री में आज जिस नेहा कक्कड़ की तूती बोल रही है, 6 जून को वे अपना जन्मदिन मना रही हैं। नेहा कक्कड़ की पहचान आज हिट मशीन के रूप में है। यह कहना बिल्कुल भी गलत नहीं होगा कि अपने गानों के लिए तो वे जानी ही जाती हैं, साथ में अपनी प्यारी सी मुस्कुराहट से भी नेहा कक्कड़ हर किसी का दिल जीत लेती हैं।

हमेशा खुश नजर आने वालीं नेहा कक्कड़ को कई बार आपने इमोशनल होते हुए भी देखा होगा। उनकी आंखों से आंसुओं का सैलाब तब-तब निकला है, जब-जब कोई दिल को दुखाने वाली या भावुक कर देने वाली चीज उनके सामने आई है। इसी तरीके से नेहा कक्कड़ ने एक बार रोते-रोते खुद से जुड़ा एक ऐसा किस्सा सुनाया था, जिसे सुनकर हर कोई दंग रह गया था।

याद आये वे संघर्ष के दिन (Neha Kakkar Life Struggle)

सा रे गा मा पा लिटिल चैंप्स जो कि टीवी का लोकप्रिय सिंगिंग रियलिटी शो है, इसके सीजन 6 में नेहा कक्कर जज के तौर पर नजर आई थीं। इसी दौरान एक एपिसोड में नेहा कक्कड़ बड़ी भावुक हो गई थीं। उन्होंने बताया था कि बच्चों को रियलिटी शो का हिस्सा बनते हुए अब जब वे देखती हैं तो उन्हें अपने पुराने संघर्ष के दिन याद आ जाते हैं। नेहा कक्कड़ ने कहा था कि पिता जी ने हमें अच्छी जिंदगी देने के लिए बड़ी मेहनत की है। उन दिनों को भूल पाना मेरे लिए संभव ही नहीं है, जब मेरे पापा सोनू दीदी के स्कूल के बाहर समोसे बेचा करते थे। सोनू नेहा कक्कड़ की बड़ी बहन का नाम है नेहा कक्कड़ के मुताबिक स्कूल के बाहर समोसे बेचने की वजह से स्कूल के बच्चे उनकी बहन पर तंज भी कसा करते थे।

neha kakkar family
Iwm Buzz

रात भर गाना पड़ता था

Neha Kakkar
Image Source – [email protected]

अपने संघर्ष के दिनों को भावुक अंदाज में याद करते हुए नेहा कक्कड़ ने कहा था कि दिल्ली में मैं बाद में रहने के लिए आ गई थी। यहां जागरण में सोनू दीदी और मेरा भाई गाने के लिए जाते थे। 4 साल की उम्र में ही मैंने भी गाना शुरू कर दिया था। उस दौरान कोई समय सीमा गाने की हुआ ही नहीं करती थी। कई बार तो इसकी वजह से सुबह तक गाना पड़ता था। नेहा कक्कड़ ने कहा कि बहुत से लोग तो उनके प्रयासों की सराहना तक नहीं करते थे। कई घंटे तक गाना गाने का यही मतलब होता था कि दूसरे दिन सुबह में उनका स्कूल जाना मुमकिन नहीं है। नेहा के मुताबिक जिंदगी ने उनकी करवट तब ली जब एक सिंगिंग रियलिटी शो में उन्होंने हिस्सा लिया।

नहीं सीखा हार मानना (Neha Kakkar Biography)

इंडियन आइडल 2 में नेहा कक्कड़ ने भाग लिया था। नेहा कक्कड़ काफी बढ़िया कर रही थीं, लेकिन इस शो को जीत पाने में वे नाकाम रही थीं। फिर भी नेहा कक्कड़ के इरादे बुलंद थे। हार नहीं मानने की उन्होंने ठान ली थी। नेहा मेहनत करती रहीं। वर्ष 2008 में एल्बम ‘नेहा द रॉकस्टार’ को नेहा कक्कड़ ने लांच किया। नेहा का बॉलीवुड में पहला हिट सॉन्ग सेकंड हैंड जवानी माना जाता है। हालांकि यारियां फिल्म के गाने सनी सनी से नेहा कक्कड़ को अधिक पहचान मिली थी।

जीता अपने लिए ये गौरव का क्षण

अपनी लगन और अपनी प्रतिभा के दम पर आज इंडस्ट्री में नेहा कक्कड़ एक जाना-पहचाना नाम बन चुकी हैं। उनके लिए यह वाकई बड़े गर्व की बात है कि जिस सिंगिंग रियलिटी शो में उन्होंने प्रतिभागी के रूप में भाग लिया था, अब उसी रियलिटी शो में वे जज के तौर पर नजर आती हैं। फैन फॉलोइंग भी उनकी गजब की है। यही वजह है कि अक्सर सुर्खियों में नेहा कक्कड़ बनी ही रहती हैं।

Facebook Comments