कांग्रेस के शहज़ादे और पूर्व अध्यक्ष राहुल गाँधी(Rahul Gandhi) ने बीते दिनों सरकार की प्रति व्यक्ति सकल घरेलू उत्पाद(Gross Domestic Product) योजना की धीमी रफ़्तार पर तंज कसते हुए कहा है, प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में यह छह साल के नफरत भरे सांस्कृतिक राष्ट्रवाद की ठोस उपलब्धि है। इतना ही नहीं राहुल गाँधी ने बांग्लादेश को भी भारत से आगे बढ़ते हुए बता दिया। आइये इस खबर को विस्तार से जानते हैं।

राहुल गाँधी(Rahul Gandhi) ने ट्वीट कर सरकार एक बार फिर बनाया निशाना

बता दें कि, कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गाँधी ने ट्वीट कर बीजेपी सरकार की चुटकी लेते हुए लिखा है, “भाजपा के नफरत भरे सांस्कृतिक राष्ट्रवाद की 6 साल की ठोस उपलब्धि: बांग्लादेश भारत से आगे निकलने के लिए तैयार।” जानकारी है कि, राहुल ने यह ट्वीट खासतौर से इस साल बांग्लादेश के प्रति व्यक्ति सकल उत्पाद के मामले में भारत को पीछे छोड़ने के बाद किया है। हालाँकि भारतीय अर्थव्यवस्था को यह बड़ा झटका कोरोना की वजह से हुए लॉकडाउन के कारण लगा है। एनडीटीवी की एक रिपोर्ट के अनुसार साल 2020 में बांग्लादेश में प्रति व्यक्ति जीडीपी चार फीसदी बढ़कर लगभग 1888 डॉलर होने की उम्मीद है। दूसरी तरफ भारत की बात करें तो यहाँ प्रति व्यक्ति जीडीपी 10.5 प्रतिशत से घटकर 1877 पर ही ठीके रहने की आशंका है। पिछले चार सालों में यह भारत की सबसे कम जीडीपी है।

एक रिपोर्ट के अनुसार भारत एशिया का तीसरा सबसे गरीब देश बन सकता है

यह रिपोर्ट बेहद हैरान और आशंकित करने वाली है। गौरतलब है कि, अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष, वर्ल्ड इकनोमिक आउटलुक की एक रिपोर्ट में इस बात जिक्र है कि, आने वाले दिनों में भारत दक्षिण एशिया का तीसरा सबसे गरीब देश बन सकता है।

यह भी पढ़े

इस समय केवल पाकिस्तान और नेपाल ही दो ऐसे देश हैं जिनकी जीडीपी भारत से भी कम है। बाकी भूटान, बांग्लादेश, श्रीलंका और मालदीप जैसे देश इस मामले में भारत से भी आगे हैं।

Facebook Comments