हरियाणा विधानसभा चुनाव 2019: भाजपा ने जारी किया अपना मेनिफेस्टो, किसान और उद्योगपतियों पर दिया गया है ध्यान

मेनिफेस्टो के मुख्य बिंदु

•भारतीय जनता पार्टी ने अपने इस मेनिफेस्टो के लिए लोगों से राय मांगी थी। जिसके बाद लगभग 1.70 लाख सुझाव पार्टी को मिले हैं।

• मेनिफेस्टो के लिए बनाई गई समिति ने कुल 200 सुझावों को मेनिफेस्टो की सूची में शामिल किया।

• कांग्रेस पहले ही कर चुकी है अपने मेनिफेस्टो का ऐलान।

• भाजपा ने इस मेनिफेस्टो का नाम ‘म्हारे सपनों का हरियाणा रखा है’।

भारतीय जनता पार्टी हरियाणा में एक बार फिर से सत्ता में आने की प्रयास में लगी हुई है जिसे लेकर पार्टी ने अपना संकल्प पत्र 2019 जारी कर दिया है। घोषणा पत्र के जरिए भारतीय जनता पार्टी ने वोटरों को लुभाने की कोशिश की है।

भारतीय जनता पार्टी ने 2019 हरियाणा विधानसभा चुनाव के लिए अपना मेनिफेस्टो जारी कर दिया है। यह मेनिफेस्टो मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर की मौजूदगी में चंडीगढ़ में जारी किया गया। मेनिफेस्टो का नाम “म्हारे सपनों का हरियाणा” रखा गया है। लोकसभा चुनाव के तरह ही इस इस चुनाव में भी पार्टी ने मेनिफेस्टो को संकल्प पत्र का नाम दिया है। इस दौरान पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा भी मौजूद रहें।

घोषणापत्र जारी करते हुए नड्डा ने कहा, ‘इसे बहुत अनैलिसिस करके तैयार किया गया है। समाज के हर वर्ग को ध्यान में रखते हुए हमने यह संकल्प पत्र तैयार किया है। पिछले पांच साल में मनोहर लाल खट्टर ने हरियाणा की छवि को मजबूत किया है। उन्होंने हरियाणा की राजनीतिक संस्कृति को बदल दिया है। आज हरियाणा भ्रष्टाचार मुक्त, विकास युक्त है और यहां परादर्शी सरकार देने का काम किया है।’

BJPManifesto

जेपी नड्डा ने कांग्रेस को घेरा

संकल्प पत्र जारी करने से पहले भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जय प्रकाश नड्डा ने कांग्रेस पर तंज करते हुए कहा कि, ‘कांग्रेस ने बीजेपी की तरह अपने घोषणा पत्र का नाम भी संकल्प पत्र रख दिया है, लेकिन ये नहीं जानते कि नाम बदलने से सरकार नहीं आती बल्कि विकास के काम करने से आती है।’ यहीं नहीं रुके उन्होंने नरेंद्र मोदी सरकार उपलब्धियां गिनाते हुए कहा कि ‘मोदीजी ने रेवाड़ी में कहा था कि वन रैक वन पेंशन की मांग को पूरा करेंगे। मैं पूरे अधिकार के साथ कह सकता हूं कि 12000 करोड़ रुपये वन रैंक वन पेंशन के लिए जारी किए गए हैं और 22 लाख मामलों को सुना गया। वन रैंक वन पेंशन का अब कोई केस पेंडिंग नहीं है।’

संकल्प पत्र जारी करने से पहले नड्डा ने बताया कि पिछले 5 साल में हमारी सरकार ने गांव किसान गरीब वंचित शोषित पर ज्यादा ध्यान दिया है। भाजपा ने जो कहा था वह करके दिखा रही है भाजपा के नीति सबका साथ सबका विकास है और पार्टी उसी राह पर चल रही है। इस दौरान मुख्यमंत्री खट्टर ने कहा कि, ”परीक्षा की घड़ी आ गई है। हम परीक्षा देने जा रहे हैं। जनता परिणाम निकालेगी। इस संकल्प पत्र की परीक्षा 5 साल होगी।

संकल्प पत्र के मुख्य बिंदु

• भाजपा ने किसानों की आय को दोगुना करने का लक्ष्य रखा है।
• युवा के विकास और रोजगार के लिए एक मंत्रालय का गठन होगा।
• युवाओं को कौशल प्रदान करने के लिए सरकार 500 करोड़ रुपए खर्च करेगी
• हरियाणा के कुल 22 जिलों में आधुनिक अस्पतालों का निर्माण किया जाएगा।
• महिला सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए हर गांव में सेल्फ डिफेंस ट्रेनिंग की शुरुआत की जाएगी।

कांग्रेस भी कर चुकी है संकल्प पत्र जारी

आपको बता दें कि इससे पहले शुक्रवार को कांग्रेस ने हुई अपना संकल्प पत्र जारी कर दिया है। संकल्प पत्र को जारी करते हुए किसानों, महिलाओं और युवाओं पर फोकस किया था। सरकारी नौकरियों में 33 फीसदी आरक्षण सहित महिलाओं के लिए कांग्रेस ने कई अहम घोषणाएं की। अपने संकल्प पत्र में कांग्रेस यह वादा किया है कि अगर कांग्रेस सत्ता में आती है। तो दसवीं के स्टूडेंट को हर हाल में 12000 और 12वीं के स्टूडेंट को हर हाल में 15000 रुपए की स्कॉलरशिप दी जाएगी।

शमशेर खरकड़ा ने किया संकल्प पत्र का स्वागत

आपको बताते चलें कि हरियाणा के महम सीट से भाजपा प्रत्याशी शमशेर खरकड़ा ने भी इस संकल्प पत्र का स्वागत किया है। खरकड़ा ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी गरीब किसानों और महिलाओं के विकास के लिए प्रतिबद्ध है। 2019 विधानसभा चुनाव के संकल्प पत्र में इन्हीं मुद्दों को ध्यान में रखा गया है। शमशेर खरकड़ा ने संकल्प पत्र को जनता के विकास का संकल्प पत्र बताया है।

Facebook Comments