Chardham Yatra: कोरोना वायरस और लॉकडाउन की वजह से देश के सभी मंदिरों और धार्मिक कार्यों पर भी रोक लगा दी गई थी। इस वजह से हर साल होने वाले चारधाम यात्रा पर भी रोक लगी हुई है। अब लॉकडाउन का चौथा चरण जल्द ही खत्म होने जा रहा है, ऐसे में ये उम्मीद की जा रही है कि, आने वाले दिनों में केंद्र सरकार की तरफ से उत्तराखंड सरकार को चारधाम यात्रा शुरू करवाने की इजाज़त मिल सकती है। इस बाबत उत्तराखंड का मानना है कि, आने वाले दिनों में यदि केंद्र सरकार मंजूरी दे देती है तो कुछ शर्तों के साथ चारधाम की यात्रा शुरू करवाई जा सकती है। आइये आपको इस बारे में विस्तार से बता दें।

Chardham Yatra के लिए श्रद्धालुओं को माननी होगी ये शर्तें

Chardham Yatra can be started soon
Image Source: Tourmyindia

बता दें कि, चारधाम यात्रा शुरू करने के विषय में उत्तराखंड सरकार ने राज्य में कोरोना संक्रमण को देखते हुए अभी शुरुआत में श्रद्धालुओं की एक नियत संख्या के साथ यात्रा शुरू करने की बात की है। हालाँकि राज्य इस यात्रा को तभी शुरू करवा सकती है जब केंद्र सरकार की तरफ से उन्हें अनुमति मिल जाती है। जानकारी है कि, कर्नाटका में मंदिरों को खोलने की इजाज़त दे दी गई है। इसी बारे में जब उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत से पूछा गया तो उन्होनें दो टूक जवाब देते हुए कहा कि, “सभी राज्यों को धार्मिक कार्यों की शुरुआत करने के साथ ही केंद्र सरकार की गाइडलाइन्स का भी पालन करना होगा, हालाँकि यदि ये फैसला केंद्र राज्यों पर छोड़ती है तो, एक नियत संख्या के साथ चारधाम यात्रा की शुरुआत करवाई जा सकती है”।

लॉकडाउन 4.0 के दौरान उत्तराखंड में कोरोना संक्रमितों की संख्या में इज़ाफा

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि, जहां एक तरफ उत्तराखंड सरकार चारधाम यात्रा शुरू करने की बात कर रही है। वहीं दूसरी तरफ राज्य में लॉकडाउन के चौथे चरण में कोरोना संक्रमितों की संख्या में भारी इजाफ़ा हुआ है। जहाँ शुरुआत में उत्तराखंड में कोरोना से केवल 153 लोग संक्रमित थे वहीं अब ये आंकड़ा बढ़कर 600 के करीब पहुंच गई है। ऐसे में इस समय राज्य की मौजूदा हालत को देखते हुए केंद्र ने राज्य सरकार से लॉकडाउन 5.0 में कुछ कड़े फैसले लेने के निर्देश दिए हैं।

यह भी पढ़े:

राज्य में बढ़ रहे कोरोना मरीजों की संख्या के बारे में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि, लॉकडाउन के तीसरे फेज के बाद राज्य में आने वाले प्रवासी मजदूरों की संख्या में काफी वृद्धि है। कोरोना के मरीजों की संख्या भी इसी वजह से बढ़ती जा रही है, हालाँकि राज्य में इस वायरस से बचने के लिए सभी गाइडलाइन्स का पालन किया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने उत्तराखंड में अन्य राज्यों से आने वाले मजदूरों को इस वायरस के फैलाव का मुख्य कारण बताया है। इस वजह से हो सकता है कि, लॉकडाउन का चौथा चरण ख़त्म होने के बाद राज्य सरकार कुछ अहम् फैसले लेगी जिसमें चारधाम यात्रा पर भी दोबारा से विचार विमर्श किया जा सकता है।

Facebook Comments