Covid 19: ट्रंप के बयान के बाद राहुल गांधी ने ट्वीट करके कहा कि, भारत सब देशों के लिए मददगार बना हुआ है। परंतु भारत को अपनी जरूरतों पर भी ध्यान देना जरूरी है।

केवल भारत ही नहीं बल्कि, इस समय अनेको देश कोरोना की मार झेल रहे हैं। इसी बीच भारत और अमेरिका के रिश्तों को लेकर काफी परेशानी बनी हुई है। बीते कुछ दिनों में अमेरिका के राष्ट्रपति ट्रंप ने एक दवा को लेकर बयान दिया था, जोकि काफी चर्चा का विषय बना रहा था। अब राहुल गांधी ने मुद्दे को उठाते हुए ट्वीट कर कहा है कि, संभवत भारत को सभी देशों की मदद करनी चाहिए। परंतु पहले अपने देशवासियों के बारे में सोचना चाहिए। राहुल ने अपने ट्वीट में यह भी लिखा कि “मित्रों में प्रतिशोध की भावना?” भारत को सभी देशों में मदद के लिए तैयार रहना चाहिए। परंतु पहले भारत को अपने सभी राज्यो के चारों कोनों में दवाइयां और उपकरण पहुंचाना अति आवश्यक है।

क्यों भड़क उठे राहुल? (Covid-19 Rahul Gandhi says Friendship isnt Retaliation Trumps)

सूत्रों के हवाले से पता लगा है कि, राहुल गांधी का यह ट्वीट उस समय आया। जब डोनाल्ड ट्रंप ने धमकी भरे बयान में यह कहा था कि, अगर भारत द्वारा हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन की सप्लाई नहीं किया जाता, तो अमेरिका इसका करारा जवाब भारत को देता। इस बयान के चलते भारत में कड़ी आलोचना का माहौल बना हुआ है।

विदेश मंत्री का बयान

इस वाक्य पर विदेश मंत्री का कहना है कि, इस पूरे मसले को राजनीतिक रुप नहीं देना चाहिए। गौरतलब है कि, सरकार की ओर से यह कहा गया है कि पहले देश की जनता और देश की जरूरतों का ध्यान रखा जाएगा। उसके बाद किसी बाहरी देश की मदद की जाएगी।

भारत द्वारा चिन्हित दवाइयों के निर्यात पर लगी रोक हटाने का फैसला सरकार द्वारा लिया गया है। इन दवाइयों का निर्यात केवल उन देशों में किया जाएगा, जो कि मुख्य रूप से भारत पर निर्भर है। और साथ ही साथ उन देशों को भी दिया जाएगा, जो सर्वाधिक रूप से कोरोना की मार झेल रहे है।

Facebook Comments