Cyclone Nisarga live updates: साल 2020 भारत ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया के लिए काफी मुसीबतों भरा साल साबित हो रहा है। देश अभी कोरोना की मार से उभरा भी नहीं है कि, लगातार दो समुद्री तूफ़ान से अलग निपटना पड़ रहा है। पहले अम्फान ने बंगाल और उड़ीसा में तांडव मचाया और अब महाराष्ट्र और गुजरात में कुछ ही घंटों में निसर्ग दस्तक देने वाल है। हालाँकि ये दोनों ही राज्य इस चक्रवाती तूफ़ान का सामना करने के लिए पूरी तरह से तैयार है लेकिन इस तूफ़ान की स्पीड इतनी ज्यादा होगी की इससे होने वाले नुकसान का अभी अंदाजा भी नहीं लगाया जा सकता है। आइये आपको बताते हैं किस तरह से दस्तक देगा निसर्ग और कितनी होगी इसकी रफ़्तार।

अलीबाग के तट से आज इस रफ़्तार से टकरा सकता है निसर्ग (Cyclone Nisarga to Make Landfall in Maharashtra)

Cyclone Nisarga in Maharashtra
PTI

मौसम विभाग के अनुसार आज दोपहर करीबन दो बजे मुंबई के अलीबाग और पालघर के समुद्री तटों से करीबन 120 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ़्तार से ये तूफ़ान टकरा सकता है। बता दें कि, निसर्ग के समुद्र तट से टकराने के दौरान हवा की स्पीड करीबन 100 किलोमीटर प्रति घंटा की हो सकती है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि, इस वजह से मौसम विभाग ने आज रात नौ बजे के बाद मुंबई के समुद्री तटों पर हाई टाइड की संभावना भी जताई है। निसर्ग कितना खतरनाक हो सकता है इसका आगाज़ पहले ही हो चुका है, गौरतलब है कि, मुंबई और गुजरात के कई इलाकों में इस वजह से भारी बारिश भी शुरू हो चुकी है। मौसम विभाग ने मुंबई के लिए विशेष रूप से आज के दिन को भारी बताया है। बता दें कि, आज समुद्र में करीबन छह फ़ीट ऊँची लहरें तक उठने की संभावना जताई जा रही है। दूसरी तरफ सुरक्षा के मद्देनजर अभी तक करीबन 80 से ज्यादा लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जा चुका है।

सुरक्षा के मद्देनजर समुद्री तटों पर धारा 144 लागू

जानकारी हो कि, इस तूफ़ान की सूचना मिलते ही मंगलवार से ही मुंबई के समुद्री तटों पर सुरक्षा इंतजाम काफी पुख्ते कर दिए गए हैं। हज़ारों की संख्या में लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने काम पहले ही किया जा चुका है। इसके साथ ही साथ मुंबई सहित गुजरात के समुद्री तटों पर लोगों की सुरक्षा के लिए धारा 144 लगा दी गई है। यानि कि, निसर्ग के थमने तक लोगों को समुद्र तटों पर जाने की इजाज़त नहीं है। इतना ही नहीं सुरक्षा के मद्देनजर महाराष्ट्र सरकार ने लोगों से घरों में रहने की ही अपील की है। आपको बता दें कि, मौसम विभाग ने नौ सेना और एनडीआरएफ की टीम को हाई अलर्ट रहने के निर्देश दिए हैं। ऐसी आशंका जताई जा रही है कि, इस तूफ़ान का सबसे ज्यादा प्रभाव दादर नगर हवेली, दमन और दीव पर पड़ेगा। इसके अलावा मुंबई और गुजरात में भारी बारिश के साथ हाई टाइड आने की आशंका है। गुजरात की बात करें तो दक्षिणी समुद्री तटों से निसर्ग टकरा सकता है। निसर्ग ने इन दोनों ही राज्यों में आने की दस्तक दे दी है। समुद्र में अभी से ऊँची लहरें उठनी शुरू हो गई है। इस बाबत मुंबई पुलिस का कहना है कि, सभी समुद्री तटों के निकतम पार्क, सार्वजानिक स्थान और सड़कों पर लोगों की आवाजाही पर रोक लगा दी गई है। इस आदेश का सख्ती से पालन हो इसके लिए मुंबई पुलिस प्रयासरत हैं।

Facebook Comments