NIA Identified The Mastermind Of Pulwama Attack: पिछले साल 14 फ़रवरी का दिन भारत कभी नहीं भूल सकता है। ये वो दिन था जब भारतीय सेना पर अब तक का सबसे बड़ा हमला किया गया। इस सिलसिले में अब मंगलवार को नेशनल इन्वेस्टीगेशन एजेंसी NIA अपना चार्जशीट दाखिल कर सकती है। एनडीटीवी की एक रिपोर्ट के अनुसार इस चार्जशीट में विशेष रूप से पुलवामा अटैक(Pulwama Attack) के मास्टरमाइंड का जिक्र किया गया है। आइये जानते हैं नेशनल इन्वेस्टीगेशन एजेंसी की इस रिपोर्ट में किसका नाम सामने आने वाला है।

जैश-ए-मोहम्मद के इन दो भाइयों पर कस सकता है शिकंजा

Pulwama Attack Investigation
Image Source – PTI

मिली जानकारी के अनुसार नेशनल इन्वेस्टीगेशन एजेंसी(National Investigation Agency) द्वारा दाखिल किए जाने वाले चार्जशीट में विशेष रूप से पुलवामा अटैक(Pulwama Attack) का मास्टरमाइंड जैश-ए-मोहम्मद(Jaish-e-Mohammed) आतंकवादी सरगना के मसूद अज़हर(Masood Azhar) और उसके भाई रउफ अश्गर(Abdul Rauf Asghar) को बताया गया है। बता दें कि, इस बारे में एनआईए मंगलवार को पांच हज़ार पन्नों की चार्जशीट दाखिल कर सकती है। इस चार्जशीट में विशेष रूप से बताया गया है कि, किस तरह से पुलवामा में भारतीय सेना पर जैश-ए-मोहम्मद द्वारा अब तक का सबसे बड़ा आतंकी हमला किया गया था।

नेशनल इन्वेस्टीगेशन एजेंसी द्वारा दाखिल चार्जशीट में बीस आरोपियों का नाम

Pulwama Attack Mastermind
Image Source – PTI

जानकारी है कि, बीते साल 14 फ़रवरी को कश्मीर के पुलवामा(Pulwama Attack) में सेना के काफ़िले पर भारी मात्रा में एक कार में विस्फोटक रखकर हमला किया गया था। इस हमले में सेना के चालीस से ज्यादा जवान शहीद हुए थे और कई अन्य घायल। अब नेशनल इन्वेस्टीगेशन एजेंसी ने इस मामले में आज अपना चार्जशीट दाखिल कर सकती है। इस चार्जशीट में इस हमले के मास्टरमाइंड के साथ ही बीस आरोपियों का भी नाम शामिल है। हालांकि इस लिस्ट में शामिल आतंकियों में से कई मारे भी जा चुके हैं। इस बारे में अधिक जानकारी देते हुए नेशनल इन्वेस्टीगेशन एजेंसी(National Investigation Agency) की डिप्टी इंस्पेक्टर जनरल सोनिआ नारंग ने कहा है कि, “उनके द्वारा दाखिल की जाने वाली चार्जशीट काफी लंबी है और इसे आज हम जम्मू कोर्ट में दाखिल करने जा रहे हैं।”

यह भी पढ़े

मिली जानकारी के अनुसार इस चार्जशीट में पाकिस्तान के जैश कमांडर उम्र फारुख के फोन में मिली कॉल रिकॉर्डिंग के साथ ही rdx और अन्य विस्फोटकों की तस्वीर और व्हाट्सऐप चैट को भी सबूत के तौर पर रखा गया है। उमर फारूक को पुलवामा अटैक(Pulwama Attack) के कुछ दिनों बाद ही भारतीय सेना के स्पेशल फाॅर्स द्वारा मार गिराया गया था।

Facebook Comments