Board Exams CBSE 2020: कोरोना वायरस की वजह से सीबीएसई बोर्ड की परीक्षाएं स्थगित हो गई थी, जिसे जुलाई में कराने का फैसला किया गया है। बोर्ड की तरफ से डेटशीट भी जारी हो चुकी है। ऐसे में अब सीबीएसई बोर्ड के उन बच्चों को परीक्षा नहीं देने की छूट मिली है, जो शारीरिक रुप से ठीक नहीं है। जी हां, बोर्ड ने कहा कि जिन बच्चों को परीक्षा में अपने लिए लेखक की ज़रूरत होती है, वे परीक्षा नहीं देने का विकल्प चुन सकते हैं।

दरअसल, कोरोना वायरस के बीच परीक्षा का आयोजन करना काफी मुश्किल काम है, ऐसे में तमाम सावधानियों के साथ ही इसका आयोजन किया जा रहा है। इसी कड़ी में उन बच्चों का ध्यान रखा गया है, जिन्हें अपने लिए किसी अन्य लेखक की ज़रूरत होती है और ऐसे में यदि वे एक साथ बैठेंगे तो सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ जाएंगी। मतलब साफ है कि कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए यह फैसला लिया गया है।

इंटरनल असेसमेंट के आधार पर जारी होगा रिजल्ट

students with special skills can skip pending board exams
Hindustan Times

सीबीएसई की तरफ से जारी बयान में कहा गया कि विशेष आवश्यकताओं वाले स्टूडेंट्स, जो परीक्षा में नहीं शामिल होने का ऑप्शन चयन करते हैं, उनका रिजल्ट अल्टरनेटिव मोड यानी इंटरनल असेसमेंट के आधार पर जारी किया जाएगा। मतलब साफ है कि इंटरनल में जितने मॉर्क्स आए होंगे, उसी आधार पर उन बच्चों का रिजल्ट घोषित होगा।

दिव्यांगों के अधिकारों के तहत लिया गया फैसला

सीबीएसई बोर्ड के अधिकारी ने कहा कि दिव्यांगों के अधिकारों से जुड़े 2016 अधिनियम के तहत बोर्ड ने यह फैसला लिया है और यह समाज हित में भी है। कुल मिलाकर, सीबीएसई बोर्ड की तरफ से बच्चों को बड़ी राहत दी गई है।

1 जुलाई से 15 जुलाई तक होगी परीक्षा

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि 1 जुलाई से 15 जुलाई तक सीबीएसई बोर्ड की बची हुई परीक्षाएं होंगी, जिसमें बच्चे अपने होम टाउन से ही पेपर दे सकते हैं। मतलब यदि आप किसी दूसरे शहर में हैं और आपका स्कूल किसी दूसरे शहर में हैं, तो अभी आपको जाने की ज़रूरत नहीं है।

Facebook Comments