भारत में कोरोना महामारी के दस्तक देने के बाद पीएम केयर्स फंड की शुरुआत की गई थी, जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील पर लोगों ने बढ़-चढ़ कर योगदान दिया था। जिसमें कई बड़े बिजनेसमैन और बॉलीवुड की हस्तियों के नाम शामिल हैं। हालांकि इस कोविड-19 राहत फंड(Covid-19 Relief Fund) में दान देने वालों में आम इंसान भी पीछे नहीं रहा था। यही वजह है कि अभी तक इस कोष में भारी मात्रा में दान की राशि जमा की जा चुकी है। इसी बीच एक ऐसी खबर सामने आई है, जिस सुनकर आपको विश्वास नहीं होगा कि वाकई एक भिखारी भी ऐसा कर सकता है।

यह है दानवीर भिखारी

दरअसल कोविड-19 राहत कोष(Covid-19 Relief Fund) में दान देने वालों में अब मदुरै के एक दानवीर भिखारी का नाम भी शामिल हो चुका है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक यहां के रहने वाले पूलपांडियन नाम के एक भिखारी लोगों से जरूरत की चीज और पैसे मांगकर अपना जीवन यापन करते हैं लेकिन जब देश मुश्किल में पड़ा, तो इस भिखारी ने भी अपना खजाना देश के लिए खोल दिया।

इतने रुपए किए दान

रिपोर्ट्स के मुताबिक पूलपांडियन ने कोविड-19 राहत कोष(Covid-19 Relief Fund) में 90 हजार रुपए का दान दिया है। यही नहीं उन्होंने इससे पहले भी मई महीने में 10 हजार रुपए इसी फंड में दान में दिए थे। पूलपांडियन के इस काम की अब पूरे देश में प्रशंसा की जा रही है। यही नहीं जिला कलेक्टर टीजी विनय ने भी उनके इस काम की सराहना की है और उन्हें सम्मानित भी किया है।

यह भी पढ़े

बच्चों के भविष्य के लिए जोड़े थे पैसे

पूलपांडियन से जब इस दान की गई राशि के बारे में पूछा गया, तो उन्होंने बताया कि यह पैसे उन्हें काफी मेहनत से जोड़े थे और यह पैसे उनके बच्चों की शिक्षा के लिए जोड़े गए थे। हालांकि कोरोना काल में उन्होंने देश को महामारी से मुक्त कराने के लिए यह पैसे कोविड-19 राहत कोष(Covid-19 Relief Fund) में दान कर दिए। जिसके बाद अब उन्हें सामाजिक कार्यकर्ता की उपाधि भी दे दी गई है।

Facebook Comments