बिग बॉस 14 का अहम हिस्सा बन चुकी राधे मां(Radhe Maa) की मुश्किलें बढ़ गई हैं। वैसे तो राधे मां बिग बॉस की कंटेस्टेंट नहीं है लेकिन घर में उनका बीच-बीच में आना-जाना लगा रहता है। राधे मां का बिग बॉस के घर में जाना कई लोगों को रास नहीं आ रहा, जिनमें अखाड़ा परिषद भी शामिल है। जिसने राधे मां के उसूलों और सिद्धांतों को लेकर ही सवाल खड़े कर दिए हैं।

अखाड़ा परिषद ने सुनाई खरी-खोटी

Radhe Maa
Image Source – Indiatvnews.com

बिग बॉस में जाने के चलते अखाड़ा परिषद राधे मां(Radhe Maa) से काफी गुस्साया हुआ है। उसने अपने बयान में साफ कहा है कि राधे मां को धर्म की कोई जानकारी नहीं है और न ही वह कोई संत-महात्मा हैं। ABAP अध्यक्ष नरेंद्र गिरी ने कहा है- राधे मां कोई संत नहीं है, वे किसी भी अखाड़े से नहीं जुड़ी हैं। पहले उन्हें जूना अखड़ा की तरफ से महामंडलेश्वर की उपाधि दी गई थी, लेकिन जब उनके असल रंग सामने आए, उन्हें वहां से निकाल दिया गया। उन्हें धर्म की कोई जानकारी नहीं है। वे बस नाच-गाना कर सकती हैं। वहीं क्योंकि अब उन्हें ABAP से अलग कर दिया गया है, ऐसे में उन्हें किसी भी रियलिटी शो में भाग लेने की इजाजत हो गई है।

यह भी पढ़े

राधे मां के बिग बॉस में किरदार को लेकर कन्फ्यूज़न

बता दें कि राधे मां(Radhe Maa) के बिग बॉस 14 में किरदार को लेकर काफी कंफ्यूजन मचा हुआ है। पहले ऐसा माना जा रहा था कि राधे मां बिग बॉस 14 में बतौर कंटेस्टेंट हिस्सा लेंगी लेकिन उसके कुछ समय बाद ही यह साफ हो गया है कि बिग बॉस में वह बतौर गेस्ट शो के साथ जुड़ी हैं, जो बीच बीच में कंटेस्टेंट से रूबरू होती रहेंगी।

Facebook Comments